पुणे। तमाम लोग आजकल बीमारियों को दूर करने के लिए नैचुरोपैथी का सहारा लेते हैं। स्लिम होने के लिए खासतौर पर इलाज के इस तरीके का इस्तेमाल जोरों पर है, लेकिन क्या आपको पता है कि नैचुरोपैथी से आपको नुकसान भी हो सकता है? जी हां, नैचुरोपैथी आपके मोटापे को खत्म करे या नहीं, लेकिन आपके दिमाग और नर्वस सिस्टम को बर्बाद कर आपको जिंदगी भर के लिए बिस्तर पर पड़े रहने को मजबूर कर सकता है।

महिला का नर्वस सिस्टम हुआ खराब
महाराष्ट्र के नांदेड की रहने वाली 33 साल की गौरी आत्रे नाम की महिला के साथ ऐसा ही हुआ। गौरी मोटापे से परेशान थीं। उन्होंने मोटापा कम करने के लिए नैचुरोपैथी का सहारा लिया। मोटापा तो कम हुआ नहीं, बल्कि उनका नर्वस सिस्टम और दिमाग पर इसका जबरदस्त असर पड़ा।

गौरी को क्या हैं परेशानियां ?
गौरी अब न ठीक से चल पाती हैं और न ही बोल पाती हैं। बैठने में भी उन्हें दिक्कत है। पुणे के रूबी हॉल क्लीनिक के डॉक्टरों के मुताबिक गौरी के हाथ, पैर और गले में कई ट्यूमर भी हो गए हैं।

कहां कराया था मोटापे का इलाज ?
गौरी ने नांदेड़ के निसारगंजली संस्था में 26 अगस्त 2017 से नैचुरोपैथी का इलाज शुरू किया था। इस संस्था को डॉ. सुनील कुलकर्णी चलाते हैं। यहां गौरी 21 दिन तक रहीं। सलाह में उन्हें दवा और लिक्विड डाइट लेने को कहा गया था।

कब से शुरू हुई दिक्कत ?
गौरी की तबीयत नवंबर की शुरुआत से बिगड़ने लगी। उनकी नजर कमजोर हो गई। सांस लेने में दिक्कत होने लगी और याददाश्त भी वो खोने लगीं। हैदराबाद में अपोलो हॉस्पिटल में उन्हें भर्ती कराया गया। जहां जांच के बाद पता चला कि गौरी का नर्वस सिस्टम नष्ट हो गया है।