Breaking News

दुनिया की इन जगहों पर महिलाओं की एंट्री पर है बैन

22 0

लखनऊ। दुनिया में ऐसी बहुत सी जगहें हैं जहां पर हजारों-लाखों लोग हर साल घूमने जाते हैं, लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि इनमें से कुछ जगहें ऐसी भी हैं जहां महिलाओं के जाने पर प्रतिबंध है।  इन जगहों को सिर्फ पुरुष ही देख सकते हैं। हम आपको दुनिया की ऐसी ही कुछ जगहों के बारे में बता रहे हैं,  जहां महिलाओं की एंट्री पर बैन है।

माउंट ओमिनी मंदिर, जापान

जापान के अत्‍यंत दुर्गम इलाके में स्थित यह 1300 साला पुराना एक बौद्ध मंदिर है। खूबसूरत पहाड़, हरियाली और झरने के बीच स्थि‍त इस मंदिर को ‘माउंट ओमिनी’ के नाम से जाना जाता है। इस मंदिर की खास बात यह है कि यहां महिलाओं का प्रवेश वर्जित है। मंदिर के प्रवेश द्वार पर एक बोर्ड पर साफ-साफ लिखा है कि यहां महिलाओं का आना मना है। जापान की कई महिला संगठनों ने इसका काफी मुखर होकर विरोध किया, लेकिन इसके बावजूद 1,000 साल से भी ज्‍यादा पुरानी परम्‍परा के कारण इस मंदिर में यह नियम आज भी बरकरार है।

जापान का 1300 साल पुराना माउंट ओमिनी मंदिर

माउंट एथॉस, ग्रीस

ग्रीस की इस मॉनेस्ट्री में महिलाओं का जाना वर्जित है। यह इस प्रायद्वीप के 20 मठों में से एक प्रमुख मठ है। ऐसा कहा जाता है कि यहां पर बौद्ध माउंट रोजाना अभ्यास करते हैं और महिलाओं के जाने से उनकी एकाग्रता भंग होती है। यही कारण है कि यहां पर पिछले लगभग 1,000 साल से महिलाओं के प्रवेश पर पूरी तरह से प्रतिबंध है। उन्हें तट के 500 मीटर के भीतर जाने की अनुमति नहीं है। ‘माउंट एथॉस : रिन्‍यूअल इन पैराडाइज’  के लेखक डॉ. ग्राहम स्पीक के मुताबिक, 10 वीं शताब्दी के चार्टर में में कहा गया है कि यहां मादा जानवरों पर प्रतिबंध है,  लेकिन महिलाओं को लेकर ऐसा कुछ नहीं कहा गया है, क्‍योंकि हर कोई जानता था कि पुरुषों के मठों में महिलाओं को जाने की अनुमति नहीं थी।

भारत में आज भी इन धर्मस्थलों पर नहीं जा सकतीं महिलाएं

ग्रीस के 20 प्रमुख बौद्ध मठों में माउंट एथॉस का है प्रमुख स्थान

बर्निंग ट्री क्लब, अमेरिका

अमेरिका के इस गोल्फ कोर्स में महिलाओं के जाने पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा हुआ है। बताया जाता है कि इस बेहद खूबसूरत जगह पर केवल राजनेता और सुप्रीम कोर्ट के जज ही जा सकते हैं। हालांकि साल 1981 में पहली बार किसी महिला ने इस कैंपस में प्रवेश किया था, लेकिन वह सुप्रीम कोर्ट की महिला जस्टिस थीं। बर्निंग ट्री में कोई महिला लॉकर रूम या बाथरूम नहीं है।

अमेरिका का बर्निंग ट्री गोल्फ कोर्स, जहां नहीं जा सकतीं महिलाएं

फुटबॉल स्टेडियम, ईरान

आजादी स्‍टेडियम के नाम से मशहूर ईरान का यह फुटबॉल का स्टेडियम काफी खूबसूरत है। ईरान में फुटबॉल बहुत लोकप्रिय है लेकिन महिलाएं इस स्‍टेडियम में बैठकर पुरुषों का फुटबॉल मैच नहीं देख सकतीं। किसी भी हालत में महिलाओं को यहां पर प्रवेश नहीं दिया जाता। अयातुल्लाह खोमैनी के ईरान का शासक बनने के बाद वर्ष 1979 के बाद से ही महिलाओं को पुरुषों के फुटबॉल मैच समेत अन्य खेलों को देखने की इजाजत नहीं है। इसके पीछे कारण यह दिया जाता है कि महिलाओं को ‘खराब माहौल’ से बचाने के लिए ऐसा करना जरूरी है। बता दें कि कुछ समय पहले इसी स्टेडियम में परसेपोलिस का एक मैच देखने पहुंची  35 महिलाओं को हिरासत में ले लिया गया था।

ईरान का यह फुटबॉल स्टे‍डियम काफी खूबसूरत है

टूर डी, फ्रांस

यह एक बहुत बड़ी साइकिल प्रतियोगिता है जो हर साल फ्रांस में होती है, लेकिन आपको यह बात जानकर हैरानी होगी कि महिलाओं के इस खेल में हिस्सा लेने पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध है। बता दें कि टूर डी फ्रांस, दुनिया की सबसे प्रतिष्ठित प्रतियोगिता है। इसका आयोजन पिछले 112 सालों से हो रहा है।

फ्रांस में टूर डी साइकिल प्रतियोगिता का आयोजन पिछले 112 सालों से हो रहा है

Related Post

50 आईआईटीयंस ने पक्की नौकरी छोड़कर बनाई राजनीतिक पार्टी

Posted by - अप्रैल 22, 2018 0
राजनीतिक संगठन का नाम रखा ‘बहुजन आजाद पार्टी’ (BAP), दलितों के लिए करेंगे संघर्ष बिहार चुनावों से करेंगे शुरुआत, पार्टी…

सीबीआई पूछताछ से डिप्रेशन में आए पूर्व डायरेक्टर ने खुद को गोली मारी

Posted by - जनवरी 10, 2018 0
उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य सेवाओं के डायरेक्टर रह चुके हैं डॉ. पवन कुमार श्रीवास्तव सीबीआई ने एनआरएचएम घोटाले में 15 जनवरी…

निर्भया कांड की बरसी पर दिल्ली में छात्रा से पार्क में गैंगरेप

Posted by - दिसम्बर 18, 2017 0
दोस्त के साथ पार्क में बैठी थी पीडि़ता, चाकू के बल पर चार युवकों ने किया दुष्‍कर्म नई दिल्ली। निर्भया कांड…

Leave a comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *