नई दिल्ली। मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड बीते चार साल से भारत में सड़क सुरक्षा को लेकर इंडियन रोड सेफ्टी मिशन चला रहा है। इस दौरान देश के अलग-अलग शहरों में कंपनी सर्वे करती है। इस बार के सर्वे के नतीजे सामने आ गए हैं। आप भी जानिए, आखिर किस शहर में सड़क सुरक्षा के हालात क्या हैं।

पैदल चलने वालों के लिए रायपुर बेहतर
देश के सारे शहरों के मुकाबले पैदल राहगीरों के लिए छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर सबसे बेहतर है। यहां फुटपाथ हैं, सड़क पार करने के लिए पुल और सबवे बने हैं। शहर में कई जगह नो कार जोन भी हैं।

कोलकाता में सड़कों की मेंटेनेंस और लाइटिंग है शानदार
पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में सड़कों की मेंटेनेंस और रोशनी की व्यवस्था को मारुति सुजुकी ने देश में सबसे बेहतर पाया। बता दें कि सड़कों की मेंटेनेंस और रोशनी का एक बहुत बड़ा रोल सड़क सुरक्षा में होता है।

चेन्नै में लोग मानते हैं ट्रैफिक कानून
सर्वे में पाया गया कि चेन्नई में सबसे ज्यादा लोग ट्रैफिक कानून और नियमों का पालन करते हैं। शहर में हर जगह ट्रैफिक पुलिसकर्मी दिखते हैं। इसके साथ ही ट्रैफिक मैनेजमेंट के लिए आधुनिक तकनीकी का इस्तेमाल भी चेन्नै में होता है।

इमरजेंसी सर्विस में अहमदाबाद नंबर 1
गुजरात इमरजेंसी मेडिकल सर्विसेज एक्ट के तहत अहमदाबाद को इमरजेंसी सर्विस में सबसे बेहतर शहर का दर्जा सर्वे में मिला है। राज्य स्तर पर ऐसी सर्विस किसी और राज्य में देखने को नहीं मिली।

सबसे साफ शहर है इंदौर
मध्य प्रदेश का शहर इंदौर देशभर में सबसे साफ-सुथरे शहरों में टॉप पर रहा। इस शहर को मिनी मुंबई भी कहते हैं। सर्वे में पाया गया कि यहां सरकारी संस्थाएं शहर को साफ रखने के लिए काफी मेहनत कर रही हैं। ऐसे में सड़क पर कचरा न के बराबर दिखता है।

किस और कैटेगरी में कौन सा शहर ?

  • कनेक्टीविटी में दिल्ली सबसे बेहतर
  • ट्रांसपोर्ट इन्फ्रास्ट्रक्चर में अहमदाबाद अव्वल
  • भारी वाहन के मैनेजमेंट में अहमदाबाद टॉप पर
  • दिव्यांगों के लिए बेहतर हालात वाला शहर है मुंबई
  • सड़क की क्वालिटी के मामले में दिल्ली पहले नंबर पर
  • सड़क सुरक्षा के मामले में रायपुर सबसे आगे
  • सड़क पर बच्चों की सुरक्षा सबसे बेहतर कोलकाता में