• फ्रांस के सहयोग से मिर्जापुर जिले के दादरकलां गांव में 650 करोड़ की लागत से बना है प्‍लांट
  • 100 मेगावाट के इस एनर्जी प्‍लांट से रोजाना 5 लाख यूनिट बिजली उत्पादन करने का दावा

लखनऊ। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार (12 मार्च) को मिर्जापुर जिले के दादरकलां गांव में उत्‍तर प्रदेश के सबसे बड़े सोलर एनर्जी प्लांट का उद्घाटन किया। सौ मेगावॉट के इस प्लांट से फिलहाल 75 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जाएगा। इस प्लांट को बनाने पर करीब 650 करोड़ रुपये व्‍यय हुए हैं। इससे रोजाना पांच लाख यूनिट बिजली बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

सोमवार को इस प्लांट के उद्घाटन के अवसर पर फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रोंकी पत्नी ब्रिगिटी मैक्रों के साथ केंद्रीय मंत्री तथा मिर्जापुर की सांसद अनुप्रिया पटेल और यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे। पीएम मोदी तथा इमैनुअल मैक्रों ने बटन दबाकर इस प्‍लांट का उद्घाटन किया। बता दें कि पेरिस में 2015 में हुई क्लाइमेट चेंज कॉन्फ्रेंस में पीएम नरेंद्र मोदी ने इंटरनेशनल सोलर अलायंस एग्रीमेंट पर दस्तखत किए थे। इस एग्रीमेंट के बाद ही देश में पहली बार फ्रांस के सहयोग से मिर्जापुर जिले में इस सोलर एनर्जी प्लांट का निर्माण हुआ।

पीएम मोदी ने बनारस में राष्ट्रपति मैक्रों को कराई गंगा की सैर

मिर्जापुर जिले के दादरकलां गांव में फ्रांस के सहयोग से 650 करोड़ रुपये की लागत से बना है यूपी का सबसे बड़ा सोलर प्लांट

आइए जानते हैं इस सोलर प्‍लांट की क्‍या हैं विशेषताएं – 

  • फ्रांस के सहयोग से बनाए गए इस सोलर प्लांट से करीब डेढ़ लाख परिवारों को बिजली मिल सकेगी।
  • इस सोलर प्लांट में करीब 3 लाख 18 हजार 650 सोलर प्लेट्स हैं। हर सोलर प्लेट से लगभग 315 वाट बिजली बनेगी।
  • इस प्लांट को 382 एकड़ पथरीली भूमि पर बनाया गया है। 250 मजदूरों ने लगातार काम कर प्लांट को 18 महीने में बनाया।
  • इस प्‍लांट में सूर्य की रोशनी के साथ एनर्जी जनरेट होगी और रोशनी खत्म होते ही प्लांट अपने आप बंद हो जाएगा।
  • इस सोलर प्लांट से जिगना के 132 केवी पावर हाउस को बिजली सप्लाई की जाएगी। यहां से बिजली पहले मिर्जापुर, फिर बची बिजली इलाहाबाद को सप्लाई होगी।