Breaking News

ट्रेन का टिकट करा रहे हैं कैंसिल, इन्हें ध्यान रखेंगे तो कम ही कटेगा पैसा

12 0

नई दिल्ली। ट्रेन का रिजर्वेशन कराने के बाद भी अलग-अलग वजहों से हमें टिकट कैंसल कराना पड़ता है। तमाम लोगों को लगता है कि टिकट कैंसल कराने पर उनका ज्यादा पैसा कट गया। ऐसे में ये जानना जरूरी है कि रेलवे ने टिकट कैंसल कराने के लिए क्या नियम बना रखे हैं। नियमों को ध्यान रखने पर अपने टिकट को वक्त रहते कैंसल कराने से आपको ज्यादा घाटा नहीं होगा।

चलिए आपको बताते हैं रेलवे के टिकट कैंसल से जुड़े नियम –

  • ऑनलाइन टिकट बुक कराया और वो चार्ट बनने के बाद भी वेटलिस्ट में है तो बिना कोई शुल्क काटे उसका पैसा आपके खाते में वापस आ जाता है।
  • अगर ऑनलाइन खरीदा गया टिकट कन्फर्म है तो ट्रेन छूटने के वक्त से 4 घंटे पहले तक ही इसे रद्द कराया जा सकता है।
  • अगर ऑनलाइन टिकट खरीदा है और ये आरएसी है, तो ट्रेन छूटने के 30 मिनट पहले तक ही इसे कैंसल कराया जा सकता है।
  • ट्रेन छूटने के 48 घंटे पहले तक कन्फर्म टिकट को कैंसल कराने पर एसी फर्स्ट क्लास और एक्जीक्यूटिव क्लास के लिए 240 रुपए, एसी टू टियर के लिए 200 रुपए, एसी थ्री टियर या एसी चेयर कार के लिए 180 रुपए, स्लीपर क्लास के लिए 120 रुपए के अलावा रिजर्वेशन चार्ज और सुपरफास्ट चार्ज कट जाते हैं।
  • ट्रेन छूटने के 12 घंटे पहले तक कोई कन्फर्म टिकट कैंसल कराने पर किराए का 25 फीसदी काटने का नियम है।
  • ट्रेन छूटने के 12 घंटे से कम और 4 घंटे पहले यानी चार्ट बनने तक कन्फर्म टिकट कैंसल कराने पर 50 फीसदी रकम कट जाती है।
  • चार्ट बनने के बाद ई-टिकट कैंसल नहीं कराए जा सकते। इसके लिए आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर टीडीआर भरना होता है।
  • ट्रेन छूटने से 4 घंटे पहले तक अगर टिकट कैंसल नहीं कराया गया या टीडीआर जमा नहीं किया गया तो किराए में से कुछ भी वापस नहीं मिलता है।
  • आरएसी के ऑनलाइन टिकट अगर ट्रेन छूटने से 30 मिनट पहले कैंसल नहीं कराए जाते या टीडीआर दाखिल नहीं किया जाता तो इसके लिए भी किराया वापस नहीं किया जाता है।

Related Post

भागलपुर हिंसा : 14 दिनों के लिए जेल भेजे गए केंद्रीय मंत्री के बेटे अरिजीत

Posted by - April 1, 2018 0
कोर्ट ने शनिवार को ही खारिज कर दी थी अग्रिम जमानत के लिए दायर याचिका पटना। भागलपुर हिंसा मामले में आरोपी…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *