Breaking News

अपराधी माननीय ! 1765 सांसद-विधायकों पर 3045 क्रिमिनल केस

3 0

नई दिल्ली। अपराधियों को राजनीति से दूर रखने की कवायद भले हो रही हो, लेकिन फिलहाल ये दूर की कौड़ी लग रही है। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि देश के 1765 सांसदों और विधायकों पर 3045 आपराधिक मुकदमे हैं। बता दें कि देश में सांसदों और विधायकों की कुल संख्या 4896 है। इस तरह इनमें से करीब 36 फीसदी आपराधिक मामलों में फंसे हैं।

इन राज्यों में इतने दागी माननीय

  • यूपी में 248 पूर्व और मौजूदा सांसद के अलावा 539 पूर्व और मौजूदा विधायक
  • तमिलनाडु में 178 पूर्व और मौजूदा सांसद के अलावा 324 पूर्व और मौजूदा विधायक
  • बिहार में 144 पूर्व और मौजूदा सांसद के अलावा 306 मौजूदा और पूर्व विधायक
  • पश्चिम बंगाल में 139 पूर्व और मौजूदा सांसद के अलावा 303 पूर्व और मौजूदा विधायक
  • आंध्र प्रदेश में 132 पूर्व और मौजूदा सांसद के अलावा 140 पूर्व और मौजूदा विधायक
  • केरल में 114 पूर्व और मौजूदा सांसद के अलावा 373 पूर्व और मौजूदा विधायक
  • दिल्ली में 84 पूर्व और मौजूदा सांसदों के अलावा 118 पूर्व और मौजूदा विधायक
  • कर्नाटक में 82 पूर्व और मौजूदा सांसदों के अलावा 137 पूर्व और मौजूदा विधायक

सुप्रीम कोर्ट ने दिया था निर्देश
दरअसल, बीते दिनों सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि केंद्र सरकार उसे रिपोर्ट दे कि कितने माननीयों पर गंभीर आपराधिक मामले हैं। अदालत का कहना था कि आंकड़े आने के बाद विशेष अदालतें बनाई जाएंगी, जिनमें माननीयों के खिलाफ मुकदमों को एक साल में निपटाया जाएगा।

कितनी अदालतें बनाई जाएंगी ?
सांसदों और विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामलों को निपटाने के लिए दिल्ली में 2 और आंध्र प्रदेश, बिहार, केरल, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल में 10-10 फास्ट ट्रैक कोर्ट जाएंगे।

Related Post

सेंचुरियन के दूसरे वनडे में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 9 विकेट से धोया

Posted by - फ़रवरी 4, 2018 0
युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव की फिरकी में फंसे दक्षिण अफ्रीकी बैट्समैन युजवेंद्र मैन ऑफ द मैच सेंचुरियन। दक्षिण अफ्रीका…

केजरी को झटका, सुप्रीम कोर्ट ने कहा – एलजी दिल्ली के बॉस

Posted by - नवम्बर 2, 2017 0
सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने कहा – एलजी के पास ज्‍यादा अधिकार, पर उन्‍हें फाइल रोकने पर वजह बतानी पड़ेगी नई दिल्ली। उच्चतम…

Leave a comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *