रांची। चारा घोटाले के चौथे मामले में आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव दोषी करार दिए गए हैं। ये मामला दुमका ट्रेजरी से अवैध तरीके से धन निकालने का है। घोटाले के इस मामले में बिहार के पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा समेत पांच अन्य को कोर्ट ने बरी कर दिया। इस तरह लालू अब तक चारा घोटाले के छह में से चार में दोषी पाए जा चुके हैं।

लालू हैं बीमार ?
लालू यादव बीमार हैं और रांची इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज यानी रिम्स में भर्ती कराया गया था।

क्या है ये मामला ?
दुमका ट्रेजरी से करीब पौने चार करोड़ रुपए की अवैध निकासी के मामले में सीबीआई ने 1996 में एफआईआर दर्ज की थी। ये रकम 1995 से 1996 के बीच निकाली गई थी। चारा घोटाले में लालू के खइलाफ सीबीआई ने पांच केस दर्ज किए थे।

पहले हो चुकी है सजा
पहले फरवरी के आखिरी हफ्ते में देवघर ट्रेजरी से अवैध रूप से धन निकालने के मामले में लालू को साढ़े तीन साल की सजा और पांच लाख रुपए जुर्माना हुआ था। चाईबासा ट्रेजरी से निकासी के मामले में लालू और जगन्नाथ को कोर्ट ने पांच-पांच साल की कैद की सजा सुनाई थी। लालू पर तब 10 लाख और जगन्नाथ मिश्रा पर पांच लाख का जुर्माना भी कोर्ट ने लगाया था।

हाईकोर्ट से नहीं मिली है राहत
लालू यादव ने देवघर ट्रेजरी मामले में जमानत के लिए झारखंड हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, लेकिन वहां से उन्हें राहत नहीं मिल सकी थी। तभी से वो रांची सेंट्रल जेल में हैं।