• दोस्तों को भी मुफ्त में अमेजॉन से सामान दिलवाया, मुख्य आरोपी 10वीं का स्कूल ड्रॉपआउट

चिकमंगलुरु। कर्नाटक में एक युवक ने अमेजॉन को पांच महीने में 1 करोड़ 30 लाख रुपए का चूना लगा दिया। उसने अमेजॉन का सामान पहुंचाकर रकम हासिल की, लेकिन कंपनी को पैसा न देकर खुद के खाते में ट्रांसफर कर दिया। इतना ही नहीं, उसने अपने दोस्तों को भी मुफ्त में अमेजॉन से सामान दिलवाया। खास बात ये है कि मुख्य आरोपी 10वीं का स्कूल ड्रॉपआउट है।

कौन-कौन है आरोपी ?
पुलिस ने इस सनसनीखेज मामले में 25 साल के दर्शन उर्फ ध्रुव, 19 साल के पुनीत, 18 साल के सचिन शेट्टी और 24 साल के अनिल शेट्टी को गिरफ्तार किया है। दो और आरोपी फिलहाल फरार हैं। ये सभी चिकमंगलुरू के ही रहने वाले हैं। इनके पास से 25 लाख रुपए का सामान और चार बाइक मिली हैं। बरामद सामान में 21 स्मार्टफोन, एक लैपटॉप, एक आईपॉड और एक एप्पल वॉच हैं।

कैसे करता था फर्जीवाड़ा ?
पुलिस में दर्ज शिकायत के मुताबिक दर्शन ने सितंबर 2017 से फरवरी 2018 के बीच फ्रॉड किया। इस दौरान चिकमंगलुरू से अमेजॉन को 4,604 ऑर्डर मिले थे। दर्शन ने इन सभी प्रोडक्ट को डिलिवर किया था। वो टैब और स्वाइप मशीन के साथ कस्टमर के घर जाता और उनसे कार्ड स्वाइप कराता, लेकिन एमेजॉन के पास यह रकम पहुंचने की जगह दर्शन के खाते में चली जाती। फरवरी में कंपनी में ऑडिट के दौरान इसका खुलासा हुआ।