Breaking News

कर्नाटक चुनाव : इस बार 391 दागी उम्मीदवार मैदान में, बीजेपी नंबर वन

36 0
  • एडीआर की रिपोर्ट में हुआ खुलासा, पिछले चुनाव के मुकाबले इस बार दागी उम्‍मीदवार बढ़े

बेंगलुरु। कर्नाटक विधानसभा चुनाव में अब कुछ ही दिन बचे हैं। सभी प्रमुख पार्टियों ने जीत के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है। बता दें कि इस चुनाव में दागियों और भ्रष्टाचार में फंसे नेताओं को भी टिकट देने से परहेज नहीं किया गया। चुनाव में खड़े 2560 उम्‍मीदवारों में से 391 भ्रष्‍टाचार या आपराधिकि मामलों में लिप्‍त पाए गए हैं। इस मामले में बीजेपी सबसे आगे है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) द्वारा रविवार को जारी एक रिपोर्ट से यह खुलासा हुआ है।

सभी पार्टियों ने उतारे दागी प्रत्‍याशी

एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक, दागी प्रत्‍याशियों के मामले में बीजेपी पहले नंबर है, जिसके 224 उम्मीदवारों में से 83 (37 फीसदी) पर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। वहीं उसके बाद दूसरे नंबर पर सत्तारूढ़ कांग्रेस है जिसके 220 में से 59 उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। वहीं जेडीएस के 199 में से 41 उम्मीदवार ऐसे मामलों का सामना कर रहे हैं। एडीआर के अनुसार, 2013 के विधानसभा चुनाव के मुकाबले 2018 में आपराधिक मामलों में फंसे उम्मीदवारों की संख्या 334 से 391 हो गई है।

एडीआर ने कैसे तैयार की रिपोर्ट ?

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म (एडीआर) ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव में 2560 प्रत्याशियों की ओर से नामांकन के साथ दिए गए हलफनामे का विश्लेषण किया है। इन हलफनामों में 2560 में से 391 उम्मीदवारों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं। एडीआर के फाउंडर और ट्रस्टी त्रिलोचन शास्त्री का कहना है, ‘राजनीतिक पार्टियों ने आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवारों को टिकट देने में बढ़ोतरी की है। अब मतदाताओं के ऊपर है कि इन्हीं में से सर्वश्रेष्ठ को वह चुने।’

कई पर गंभीर आपराधिक मामले भी

एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार, बीजेपी ने गंभीर आपराधिक मामलों में फंसे उम्मीदवारों को चुनने में भी बड़ा स्कोर बनाया है। किसी गंभीर आपराधिक मामले में दोषी को कम से कम पांच साल की सजा हो सकती है। कर्नाटक चुनाव में बीजेपी के 58 (26 फीसदी) उम्मीदवार गंभीर मामलों में लिप्त हैं। वहीं कांग्रेस के 32 यानी 15 फीसदी और जेडीएस के 29 (15 फीसदी) उम्मीदवार ऐसे हैं, जिनके ऊपर गंभीर आपराधिक मामले हैं। ऐसे उम्मीदवारों की संख्या भी 2013 के 195 के मुकाबले इस बार बढ़कर 254 हो गई है।

किस तरह के हैं गंभीर क्रिमिनल केस ?

एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक, इस चुनाव में 4 उम्मीदवारों के खिलाफ हत्या का आरोप और 25 उम्मीदवारों के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज है। 23 उम्मीदवार महिलाओं के खिलाफ अपराध में फंसे हैं, जैसे – उत्पीड़न, शीलभंग के उद्देश्य से किसी महिला के खिलाफ आपराधिक बल का इस्तेमाल इत्‍यादि। 2013 में 12 उम्मीदवार ऐसे मामलों में फंसे थे।

सबसे ज्‍यादा अमीर उम्मीदवार कांग्रेस के

कर्नाटक चुनाव में इस बार करोड़पति उम्‍मीदवारों की संख्‍या भी काफी ज्‍यादा है। 447 ऐसे उम्मीदवार हैं जिनकी संपत्ति 5 करोड़ या उससे अधिक है। सबसे अमीर उम्मीदवारों में कांग्रेस के प्रिया कृष्णा (गोविंदराजानगर) हैं जिनकी संपत्ति 1020 करोड़ है, वहीं होसकोटे से एमटीबी नागराज की घोषित संपत्ति 1015 करोड़ है और डीके शिवकुमार के पास 840 करोड़ के करीब संपत्ति है।

आइए जानते हैं किसके कितने उम्‍मीदवार हैं करोड़पति –

पार्टी            कुल प्रत्याशी        करोड़पति प्रत्याशी     
बीजेपी            224                      208 (93%)
कांग्रेस            220                      207 (94%)
जेडीएस          199                      154 (77%)
जेडीयू              25                        13 (52%)
आप                27                          9 (33%)

Related Post

परमाणु’ : फिल्‍म देखकर होता है भारतीय होने का गर्व

Posted by - May 25, 2018 0
हमारे देश के वैज्ञानिकों और BARC और DRDO जैसी संस्थाओं की मेहनत को दर्शाती है यह फिल्‍म लखनऊ। बॉलीवुड एक्टर जॉन अब्राहम की काफी दिनों…

केदारनाथ के बाद अब खुले बदरीनाथ के कपाट, हजारों भक्तों ने लगाया जयकारा

Posted by - April 30, 2018 0
जोशीमठ। केदारनाथ के कपाट खुलने के एक दिन बाद सोमवार को बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर भगवान बदरीनाथ मंदिर के…

‘बॉल टेंपरिंग’ में फंसे स्मिथ को छोड़नी पड़ी ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी

Posted by - March 25, 2018 0
उप कप्‍तान डेविड वॉर्नर से भी छीनी गई टीम की उप-कप्तानी, टिम पेन संभालेंगे टीम की कमान केपटाउन। दक्षिण अफ्रीका…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *