• सबरीना बोलीं – मनु शर्मा को ‘अच्‍छे आचरण’ के कारण सजा में रियायत मिलती है तो उन्हें आपत्ति नहीं

नई दिल्‍ली। मॉडल जेसिका लाल हत्‍याकांड के करीब 19 साल बाद उनकी बहन सबरीना ने हत्यारे मनु शर्मा उर्फ सिद्धार्थ वशिष्ठ को माफ कर दिया है। सबरीना ने तिहाड़ जेल को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्‍होंने कहा कि उन्हें मनु शर्मा के जेल से बाहर आने पर कोई आपत्ति नहीं है। जेसिका की 29 अप्रैल, 1999 को दिल्‍ली के एक रेस्‍टोरेंट में गोली मारकर हत्‍या कर दी गई थी। इस केस में दोषी मनु शर्मा इस समय तिहाड़ जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है।

जेसिका लाल की बहन सबरीना

क्‍या कहा सबरीना ने ?

बता दें कि जेसिका के हत्‍यारे को सजा दिलाने के लिए उसकी बहन सबरीना ने लंबी लड़ाई लड़ी थी। सबरीना ने कहा है कि उन्होंने अपनी बहन के हत्यारे को दिल से माफ कर दिया है। अगर मनु शर्मा को सजा में रियायत मिलती है तो इससे उन्हें कोई परेशानी नहीं है। सबरीना ने कहा, ‘मैं अब इन सबसे उबर कर जीवन में आगे बढ़ना चाहती हूं। मैं किसी तरह की नाराजगी, तकलीफ या नफरत अपने मन में नहीं रखे रहना चाहती।’

वेलफेयर ऑफिसर को लिखा पत्र

उल्‍लेखनीय है कि मनु शर्मा द्वारा जेल में करीब 15 साल बिताने और इस दौरान ‘अच्‍छे आचरण’ के आधार पर मनु शर्मा द्वारा जल्‍द रिहाई के लिए अनुरोध करने की संभावना जताई जा रही है। सबरीना ने पिछले महीने तिहाड़ सेंट्रल जेल नंबर 2 के वेलफेयर ऑफिसर को भेजे गए पत्र में लिखा है – ‘मुझे बताया गया कि मनु जेल के अंदर काफी चैरिटी का काम कर रहा है। यह सुनकर मुझे लगता है कि वह शायद सुधरने की कोशिश कर रहा है। वह 15 साल की सजा जेल में काट चुका है और ऐसे में यदि उसे रिहा किया जाता है तो मुझे कोई आपत्ति नहीं होगी।’

आर्थिक मदद लेने से किया इनकार

जेल अधिकारी ने कुछ दिनों पहले गुड़गांव में रह रहीं सबरीना से मनु शर्मा की रिहाई को लेकर उनका पक्ष जानना चाहा था। साथ ही जेल कल्याण अधिकारी की तरफ से विक्टिम वेलफेयर फंड से सबरीना को आर्थिक सहायता की भी पेशकश की गई थी। हालांकि सबरीना सहायता लेने से इनकार कर दिया था। उन्‍होंने जेल अधिकारी को लिखे पत्र में कहा, ‘मुझे इसकी जरूरत नहीं है। इसे उन लोगों को दे दें, जिन्‍हें इसकी अधिक आवश्‍यकता है।’