• सीबीआई ने इस रेलवे होटल घोटाले में कुल 14 लोगों के खिलाफ दायर किया आरोपपत्र

पटना। राष्‍ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू यादव और उनके परिवार की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। सीबीआई ने सोमवार (16 अप्रैल) को एक बार फिर बड़ा झटका देते हुए आईआरसीटीसी रेलवे होटल घोटाला मामले में 14 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। इनमें लालू यादव, उनकी पत्‍नी व पूर्व मुख्‍यमंत्री राबड़ी देवी और बेटे तेजस्‍वी यादव का नाम भी है। बता दें कि लालू यादव फिलहाल चारा घोटाले के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद जेल में हैं।

और किनके नाम हैं चार्जशीट में ?

सीबीआई के अधिकारियों ने बताया कि आईआरसीटीसी घोटाला मामले में दायर आरोपपत्र में सीबीआई ने जिन 14 लोगों के नाम लिये हैं, उनमें लालू यादव के परिवार के अलावा सरला गुप्ता (राजद सांसद प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी), विनय कोचर, विजय कोचर, आईआरसीटीसी के तत्कालीन प्रबंध निदेशक पीके गोयल, प्रेम चंद्र गुप्ता, राकेश सक्सेना, बीके अग्रवाल, आरके गोगिया के अलावा अन्य लोगों के नाम शामिल हैं।

10 अप्रैल को राबड़ी व तेजस्‍वी से हुई थी पूछताछ

गौरतलब है कि चार्जशीट फाइल किए जाने से कुछ दिन पहले ही 10 अप्रैल को सीबीआई ने इस मामले में बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के पटना स्थित आवास पर पहुंच कर राबड़ी और तेजस्वी यादव से करीब चार घंटे तक पूछताछ की थी।

क्‍या है मामला ?

दरअसल, यह पूरा मामला साल 2006 का है, जब लालू प्रसाद यादव केंद्रीय रेल मंत्री थे। सीबीआई के मुताबिक, 2006 में रांची और पुरी के बीएनआर होटलों के विकास, उनके रखरखाव और संचालन के लिए टेंडर में कथित रूप से अनियमितता पाए जाने के संबंध में यह मामला दर्ज किया गया है। सीबीआई की एफआईआर में आरोप लगाया गया है कि लालू यादव ने यह टेंडर निजी कंपनी सुजाता होटल्स को दिलवाए थे। इसके बदले उन्होंने कंपनी से बेनामी के जरिये पटना में बेशकीमती जमीन घूस के तौर पर ली थी।