नई दिल्ली। कांग्रेस समेत 7 विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू को महाभियोग प्रस्ताव दिया है, लेकिन इस प्रस्ताव को लेकर कांग्रेस में ही एक राय नहीं बनती दिख रही है। सूत्रों के मुताबिक पूर्व पीएम और राज्यसभा में कांग्रेस के मौजूदा सांसद मनमोहन सिंह प्रस्ताव लाए जाने से नाराज हैं।

चीफ जस्टिस के खिलाफ 7 विपक्षी दल एकजुट, दिया महाभियोग प्रस्ताव
मनमोहन सिंह प्रस्ताव नहीं चाहते थे
सूत्रों के मुताबिक मनमोहन सिंह नहीं चाहते थे कि पार्टी की ओर से चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव लाया जाए। पूर्व कानून मंत्री और कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने भी कहा है कि न्यायपालिका खुद ही सारे मसले पर गौर कर सकती है। ऐसे में इस प्रस्ताव का राज्यसभा में पास हो पाना फिलहाल मुश्किल लग रहा है। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस के कुछ नेता जल्दबाजी में महाभियोग प्रस्ताव ले आए। इसके लिए मनमोहन और बाकी नेताओं से बात तक करने की जरूरत नहीं समझी।

CJI के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पास होना मुश्किल, लोकसभा में विपक्ष कमजोर
किन पार्टियों ने किया है प्रस्ताव का समर्थन
बता दें कि चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव को कांग्रेस समेत 7 पार्टियों ने समर्थन दिया है। इनमें सपा, बीएसपी, सीपीआई, सीपीएम, एनसीपी और मुस्लिम लीग शामिल हैं। खास बात ये भी है कि कांग्रेस की सहयोगी लालू प्रसाद यादव की आरजेडी और ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस ने महाभियोग प्रस्ताव का समर्थन नहीं किया है।