नागपुर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ यानी आरएसएस के मौजूदा सह सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले को संगठन में नंबर दो यानी सर कार्यवाह बनाया जा सकता है। फिलहाल ये पद भैयाजी जोशी बीते तीन साल से संभाल रहे हैं। नागपुर में चल रही संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा से ये खबर निकलकर आई है।

संघ में सर कार्यवाह की स्थिति
संघ प्रमुख आरएसएस का सबसे बड़ा पद होता है। इस पर फिलहाल मोहन भागवत हैं। संघ प्रमुख के ठीक बाद नंबर दो पर सर कार्यवाह होते हैं, जो महासचिव जैसा पद है। इसके बाद सह सर कार्यवाह यानी संयुक्त महासचिव का पद होता है। सर कार्यवाह ही बीजेपी और विश्व हिंदू परिषद समेत आरएसएस से जुड़े तमाम संगठनों के बीच समन्वय का काम करते हैं। यह पद कितना महत्वपूर्ण होता है, ये इसी से पता चलता है कि बीजेपी अपनी रणनीति पर सर कार्यवाह के साथ विचार जरूर करती है।

भागवत भी रहे हैं सर कार्यवाह
मौजूदा संघ प्रमुख मोहन भागवत भी केएस सुदर्शन के संघ प्रमुख रहते सर कार्यवाह रह चुके हैं। वैसे बताया जा रहा है कि भैयाजी जोशी अगले तीन साल के लिए दोबारा सर कार्यवाह बने रहना चाहते हैं, लेकिन सूत्रों का मानना है कि ऐसा शायद ही संभव हो।

कौन हैं दत्तात्रेय होसबोले ?
दत्तात्रेय होसबोले अभी आरएसएस में सह सर कार्यवाह हैं। वो कर्नाटक से आते हैं। आरएसएस की छात्र शाखा यानी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में वह संगठन सचिव के पद पर रहे थे। होसबोले को संघ के तेज-तर्रार नेता के तौर पर पहचाना जाता है।