बदायूं। सपा सरकार के दौरान यूपी में आए दिन दलित उत्पीड़न की घटनाएं होती थीं। बीजेपी की सरकार बनने के बाद दावा किया गया कि दबंगों को बख्शा नहीं जाएगा, लेकिन योगी आदित्यनाथ की सरकार के इस दावे का दबंगों पर लगता है कोई असर नहीं पड़ा है। वे कहर बरपा रहे हैं। ताजा मामला बदायूं के आजमपुर बिसौरिया गांव का है। यहां दबंगों ने दलित को जमकर पीटा। फिर उसकी मूंछें भी उखाड़ ली।

क्या है मामला ?

आजमपुर बिसौरिया गांव में रहने वाला सीताराम खेती भी करता है और मजदूरी भी। सीताराम के मुताबिक बीती 23 अप्रैल को गांव के विजय सिंह, शैलेंद्र, पिंकू सिंह और विक्रम सिंह ने उसे बुलाकर खेत से गेहूं की फसल काटने को कहा। सीताराम ने इन लोगों से कहा कि फिलहाल उसके पास काफी काम है और दो दिन बाद ही वो गेहूं काट सकेगा। इससे चारों दबंग नाराज हो गए। सीताराम का आरोप है कि चारों दबंग ठाकुरों ने उसे जमकर पीटा। इसके बाद घसीटकर चौपाल ले गए। सीताराम के मुताबिक चौपाल के पास पेड़ से दबंगों ने उसे बांध दिया। उसके बाद फिर पिटाई की गई। इसके बाद दबंगों ने उसकी मूछें पकड़कर उखाड़ ली।

अफसरों के आदेश पर केस हुआ दर्ज

सीताराम ने दबंगों के खिलाफ थाने में शिकायत दी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इस पर सीताराम ने बदायूं के एसपी सिटी जीतेंद्र कुमार श्रीवास्तव को अपने साथ हुई घटना की जानकारी दी। एसपी के आदेश पर संबंधित थाने ने सीताराम की तहरीर पर दबंगों के खिलाफ केस दर्ज किया।