• बैडमिंटन में सायना ने सिंधू को हराकर जीता गोल्‍ड, किदांबी श्रीकांत को सिल्‍वर से करना पड़ा संतोष
  • गोल्‍ड कोस्‍ट कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में भारत 26 गोल्ड, 20 सिल्वर, और 20 ब्रॉन्ज मेडल जीतकर तीसरे नंबर पर

गोल्ड कोस्ट (ऑस्‍ट्रेलिया)। 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स के अंतिम दिन रविवार (15 अप्रैल) को भी भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन शानदार रहा। अंतिम दिन भारत ने एक गोल्ड के साथ कुल 7 मेडल जीते। सायना ने देश को 26वां गोल्ड मेडल दिलाया। इसके अलावा भारत की झोली में चार सिल्वर और दो ब्रॉन्ज भी आए।

भारत ने ग्‍लास्‍गो के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा

भारत ने कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में इतिहास रचते हुए इस साल कुल 66 मेडल जीते, जिसमें 26 गोल्ड 20 सिल्वर और 20 ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं। भारत ने अपना तीसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए ग्लास्गो के 64 पदकों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया। मेजबान ऑस्ट्रेलिया कुल 198 मेडल के साथ टॉप पर रहा। उसने 80 गोल्ड मेडल जीते। वहीं 136 मेडल के साथ इंग्लैंड दूसरे स्थान पर रहा। कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन 2010 में देखने को मिला था, जब दिल्ली में हुए इस में कुल 101 मेडल जीते थे।

अंतिम दिन किसके नाम रहा मेडल

  • बैडमिंटन में सायना नेहवाल ने रियो ओलिंपिक की रजत पदक विजेता पीवी सिंधु को सीधे गेम्स में 21-18, 23-21 हराकर गोल्ड जीता।
  • पुरुष बैडमिंटन में किदांबी श्रीकांत को सिल्वर मेडल मिला। उन्हें फाइनल में मलेशिया के दिग्गज खिलाड़ी ली चोंग वेई ने 19-21, 21-14, 21-14 से मात दी।
  • बैडमिंटन पुरुष युगल में भी भारत को सिल्वर मेडल मिला। चिराग और सात्विक की जोड़ी को इंग्लैंड की मार्कस एलिस और क्रिस लेंगरिज की जोड़ी ने सीधे गेमों में 13-21, 16-21 से मात दी।
  • भारत की महिला स्क्वॉश जोड़ी दीपिका पल्लिकल कार्तिक और जोशना चित्नप्पा को महिला युगल के फाइनल में न्यूजीलैंड की जोले किंग और अमांडा लैंडर्स मर्फी की जोड़ी से हार मिली। भारतीय जोड़ी को सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा।
  • भारत के टेबल टेनिस खिलाड़ी अचंता शरथ कमल और मनिका बत्रा-साथियान गणाशेखरन की भारतीय मिक्स्ड डबल्स जोड़ी ने पुरुषों की सिंगल और मिक्स्ड डबल्स का ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम कर लिया।