• एर्णाकुलम रेलवे स्टेशन पर बैठकर रेलवे की मुफ्त Wi-Fi से की थी परीक्षा की तैयारी

तिरुवनंतपुरम सिविल सर्विस परीक्षा में सफल होने का सपना साकार करने के लिए लोग बड़े-बड़े कोचिंग सेंटर का सहारा लेते हैं और तरह-तरह के जतन करते हैं। लेकिन अगर आपको यह पता चले कि एक कुली ने रेलवे स्टेशन के फ्री वाईफाई से पढ़कर सिविल सर्विसेज की लिखित परीक्षा पास कर ली है तो आपको हैरानी जरूर होगी, लेकिन यह सच है। केरल के श्रीनाथ ने यह मिसाल कायम की है।

पूरी पढ़ाई इंटरनेट के जरिए की

ये मामला है केरल के एर्णाकुलम का। यहां पिछले 5 सालों से कुली का काम करने वाले केरल के मुन्‍नार निवासी श्रीनाथ ने केरल पब्लिक सर्विस कमीशन की मुख्‍य परीक्षा पास कर ली है। सबसे बड़ी बात तो यह कि श्रीनाथ ने पढ़ाई के लिए किसी भी किताब की सहायता नहीं ली, बल्कि सारी पढ़ाई रेलवे स्टेशन के फ्री वाईफाई की मदद से पूरी की। वह मोबाइल में वीडियो की मदद लेते थे। उनके पास एक मोबाइल फोन और ईयरफोन के अलावा कोई किताब नहीं थी।

तीन बार दे चुके हैं सिविल सेवा परीक्षा

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, श्रीनाथ तीन बार परीक्षा में बैठ चुके है, लेकिन अबकी पहली बार उन्‍होंने तैयारी के लिए रेलवे के फ्री वाईफाई का इस्तेमाल किया। श्रीनाथ ने बताया कि कुली के रूप में जब वह लोगों का सामान ढोते थे, तो उस समय अपने कानों में ईयरफोन लगा लेते थे और कोर्स से संबंधित वीडियो सुनते थे। वह फोन कर शिक्षकों से भी अपनी शंकाओं का समाधान करते थे। अब यदि श्रीनाथ को साक्षात्कार में मिल जाती है तो उनकी नियुक्ति लैंड रेवेन्यू डिपार्टमेंट में बतौर विलेज फील्ड असिस्टेंट के रूप में होगी।

इंटरनेट ने बदल दी श्रीनाथ की दुनिया

उल्‍लेखनीय है कि नरेंद्र मोदी सरकार ने साल 2016 में ‘डिजिटल इंडिया’ कार्यक्रम के तहत देशभर के रेलवे स्टेशनों पर मुफ्त वाईफाई की सुविधा शुरू की थी। इंटरनेट एक आम आदमी के जीवन में किस तरह बदलाव ला सकता है, इसकी प्रत्‍यक्ष मिसाल हैं एर्णाकुलम के श्रीनाथ। एर्णाकुलम स्टेशन पर कुलीगीरी कर परिवार की आजीविका चलाने वाले श्रीनाथ ने इस इंटरनेट सुविधा का सकारात्‍मक इस्‍तेमाल कर य‍ह दिखा दिया कि लगन और मेहनत से कुछ भी हासिल किया जा सकता है।