नई दिल्ली। नाबालिग बच्चियों से रेप के मामलों में दोषी पाए जाने पर फांसी की सजा होगी। केंद्र सरकार इस बारे में कदम उठाने जा रही है।

सुप्रीम कोर्ट को दी जानकारी
केंद्र सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट को बताया गया कि इसके लिए पॉक्सो एक्ट में बदलाव किया जाएगा। बदलाव के तहत 12 साल तक की बच्चियों से रेप में मौत की सजा का प्रावधान किया जाएगा। बता दें कि बच्चियों को यौन हिंसा और दुर्व्यवहार से बचाने के लिए पॉक्सो एक्ट बनाया गया था। सुप्रीम कोर्ट इस मामले में दाखिल जनहित याचिका पर अगली सुनवाई 27 अप्रैल को करेगा।

मेनका ने मौत की सजा पर सहमति जताई थी
बीते हफ्ते मोदी सरकार में महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने बच्चियों से लगातार हो रही रेप की घटनाओं पर चिंता जताते हुए ऐसे मामलों में दोषियों को मौत की सजा पर सहमति जताई थी। मेनका गांधी ने कहा कि कठुआ और अन्य जगह बच्चियों से रेप और उनकी हत्या की खबरों से वो काफी परेशान हैं। उन्होंने कहा था कि महिला और बाल विकास मंत्रालय पॉक्सो एक्ट में बदलाव करेगा, ताकि ऐसे मामलों में दोषियों को मौत की सजा हो सके।