• बोर्ड ने कहा – दोबारा नहीं लिया जाएगा अकाउंट्स का एग्जाम, दर्ज कराई एफआईआर

नई दिल्ली। मीडिया रिपोर्ट्स में गुरुवार (15 मार्च) को दावा किया गया कि सीबीएसई का 12वीं क्लास का अकाउंटेंसी का पेपर लीक हो गया है। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसौदिया ने कहा – ‘मैंने डायरेक्टोरेट ऑफ एजुकेशन (DoE) से इस मामले की जांच करने को कहा है।’ दूसरी तरफ, सीबीएसई ने पेपर लीक होने की बात से इनकार किया। हालांकि सीबीएसई ने कहा कि उसने इस मामले में एफआईआर दर्ज करा दी है। बोर्ड ने यह भी स्‍पष्‍ट किया कि अकाउंट्स का एग्जाम दोबारा नहीं लिया जाएगा।

क्या है मामला?

मनीष सिसौदिया ने एक ट्वीट में कहा – ‘मुझे शिकायतें मिली हैं कि सीबीएसई की 12वीं क्लास का अकाउंटेंसी का पेपर लीक हुआ है। मैंने डीओई से कहा है कि वो इस मामले की जांच करें और सीबीएसई से शिकायत करें। सिसौदिया ने कहा कि इस मामले में जल्द कार्रवाई की जाएगी, ताकि मेहनत करने वाले छात्रों को सीबीएसई की गलतियों का शिकार ना होना पड़े।

क्या है आरोप?

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, आरोप है कि अकाउंटेंसी का पेपर वॉट्सएप पर गुरुवार सुबह शेयर किया गया। कथित तौर पर लीक हुए इस पेपर में वही सवाल हैं जो परीक्षा में पूछे गए हैं। हालांकि उनका क्रम अलग है। यह आरोप ऐसे समय पर लगे हैं, जब स्टाफ सेलेक्शन कमीशन यानी एसएससी के भी पेपर लीक होने के आरोप लग रहे हैं।

सोशल मीडिया पर फैलाई गई अफवाह : सीबीएसई
सीबीएसई ने पेपर लीक होने की खबरों को सिरे से खारिज कर दिया है। उसका कहना है कि हर सेंटर पर पेपर्स की सील सही सलामत पाई गईं। बोर्ड ने कहा कि परीक्षा के दौरान स्थानीय स्तर पर किसी ने शरारत करते हुए परीक्षा को प्रभावित करने के लिए ये मैसेज फैलाना शुरू किया, जो तेजी से सोशल मीडिया व व्हॉट्सएप पर वायरल हो गया। सीबीएसई ने इस तरह की अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्णय लिया है।