नई दिल्ली। तमाम राज्यों में एटीएम खाली पड़े हैं और आम लोगों में हाहाकार मचा है। इसे देखते हुए सरकारी तंत्र हरकत में आता दिख रहा है। केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ल ने बयान दिया है कि तीन दिन में सारे राज्यों में एटीएम नोटों से भर दिए जाएंगे।

नोट की कमी की क्या बताई वजह ?
शिव प्रताप शुक्ल ने कहा कि जिन राज्यों में कैश की किल्लत है, वहां दूसरे राज्यों के मुकाबले कम नोट पहुंचे। केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री ने कहा कि अभी हमारे पास 1 लाख 25 हजार करोड़ रुपए की करेंसी है। कुछ राज्यों के पास कम और कुछ के पास ज्यादा करेंसी है। सरकार ने सभी राज्यों में नोट पहुंचाने के लिए राज्य स्तर पर समिति बनाई है। रिजर्व बैंक ने भी नोटों को एक से दूसरे राज्य में भेजने के लिए समिति गठित की है।

तीन दिन में एटीएम नोटों से भरेंगे
शिव प्रताप शुक्ल ने भरोसा दिलाया कि जिन राज्यों में करेंसी की कमी है, वहां के एटीएम तीन दिन में नोटों से भर दिए जाएंगे।

कहां-कहां है नोटों की कमी ?
एटीएम में नोटों की कमी यूपी, बिहार, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, हरियाणा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, गुजरात, महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में सबसे ज्यादा है। यहां के एटीएम में नो कैश के बोर्ड लगे हैं। सवाल ये भी उठ रहे हैं कि क्या कालाधन इकट्ठा करने वालों ने रकम जमा कर ली है या रिजर्व बैंक ने ही नोटों की सप्लाई कम कर दी है ?