बेंगलुरु/नई दिल्ली। कर्नाटक में जारी सियासी नाटक के बीच बीजेपी ने अपने पक्ष में 114 विधायकों के समर्थन का दावा किया है। सूत्रों के मुताबिक गवर्नर को इन 114 विधायकों के नाम की लिस्ट भेजी गई है। इस बीच, कर्नाटक हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल की गई है। याचिका में अपील की गई है कि विधायकों की खरीद-फरोख्त पर रोक लगाई जाए। साथ ही इसमें अपील की गई है कि कोई भी विधायक इस्तीफा न दे सके।

बीजेपी के पक्ष में कितने विधायक
बता दें कि बीजेपी की ओर से गुरुवार सुबह 9 बजे बीएस येदियुरप्पा को गवर्नर वजुभाई वाला ने शपथ दिलाई थी। 15 मई को आए चुनावी नतीजों में बीजेपी के 104 विधायक जीते थे। बुधवार को 1 निर्दलीय विधायक ने बीजेपी को समर्थन की चिट्ठी गवर्नर को सौंपी थी। इस तरह बीजेपी के पास 105 विधायक हो गए। अब बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने गवर्नर को जो लिस्ट भेजी है, उसमें 114 विधायकों के नाम हैं। यानी बीजेपी ये दावा कर रही है कि कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन में से 9 विधायक उसके साथ खड़े हैं। कर्नाटक विधानसभा में 224 सीटें हैं। चुनाव 222 सीटों पर हुए हैं। 2 सीटों पर 28 मई को चुनाव हैं। ऐसे में बहुमत के लिए 112 विधायकों का समर्थन चाहिए और बीजेपी इससे 2 ज्यादा विधायकों की संख्या का दावा कर रही है।

कांग्रेस के 5 विधायकों को लेकर सस्पेंस
114 विधायकों के समर्थन के बीजेपी के दावे में हकीकत इस वजह से भी दिख रही है कि कांग्रेस के 5 विधायकों को लेकर सस्पेंस है। 3 विधायकों ने कल लिस्ट पर साइन नहीं किए थे। जबकि, बुधवार देर रात कांग्रेस के 2 और विधायक उस रिसॉर्ट से लापता हो गए, जहां पार्टी नेतृत्व ने उन्हें टिकाया था।