Breaking News

एटम बम और बिकिनी के बीच का कनेक्शन जान रह जाएंगे हैरान

22 0

मुंबई। आज के समय में  बिकिनी पहनकर फोटोशूट कराना एक ट्रेंड बन चुका है। स्विमिंग पूल हो या मॉडलिंग या फिल्म, हर जगह इसका इस्तमाल हो रहा है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि बिकिनी किसने और कब शुरू की। अगर नहीं पता तो आपको बता दें कि बिकिनी की शुरुआत फ्रेंच इंजीनियर लुईस रियर्ड  ने की थी।

फ्रेंच इंजीनियर  लुईस रियर्ड  की बनार्इ पहली बिकिनी 5 जुलाई, 1946 को प्रदर्शित हुर्इ थी। वहीं इस ड्रेस का नाम भी बिकिनी अटोमी नाम की एक जगह  के नाम पर रखा गया था। बिकिनी अमेरिका ने प्रशांत महासागर के बिकिनी एटोल द्वीप पर हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया था। अटोमी वह जगह थी जहां पर उस समय एटॉमिक बम की टेस्टिंग हो रही थी।

लुईस रियर्ड  ने एक विज्ञापन के दौरान बताया कि बिकिनी का मतलब कपड़े के सिर्फ दो टुकड़े नहीं होते हैं। बिकिनी वो है जो शादी की अंगूठी के बीच में से खींचने पर एक तरफ से दूसरी तरफ निकल जाए।ये बिकनी एक माचिस के डिब्बे में आ जाती थी

बिकिनी का अविष्कार होने के काफी समय बाद तक कोई भी एक्ट्रेस, मॉडल इसे पहनने को तैयार नहीं थी। कोई महिला इसका एड करने के लिए भी तैयार नहीं थी, लेकिन कुछ समय बाद 19 साल की एक डांसर मिशेलाइन बिकिनी का एड करने के लिए तैयार हो गई। एड आने के बाद मिशेलाइन को करीब 50 हजार फैंस के खत मिले। इसके बाद 1951 में हुए फर्स्ट ‘मिस वर्ल्ड ब्यूटी पेजंट’ की प्रतिभागियों ने भी बिकिनी पहन ली।

Related Post

एकतरफा प्यार में सिरफिरे आशिक ने युवती की मांग में जबरन भरा सिंदूर

Posted by - April 6, 2018 0
महराजगंज के पनियरा क्षेत्र की घटना, घर में अकेली थी युवती, आरोपी युवक साथी संग हुआ फरार शिवरतन कुमार गुप्ता…

विवादित धर्म प्रचारक जाकिर नाइक को भारत को नहीं सौंपेगा मलेशिया

Posted by - July 6, 2018 0
मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर बोले – जब तक समस्या खड़ी नहीं करता, भारत को नहीं सौंपेंगे कुआलालंपुर। विवादित इस्लामिक प्रचारक…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *