• 9 छात्राओं ने लगाया था छेड़खानी का आरोप, पूछताछ के बाद पुलिस ने किया था गिरफ्तार

नई दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने कई छात्राओं से यौन उत्पीड़न के मामले में गिरफ्तार किए गए जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के प्रोफेसर अतुल जौहरी को मंगलवार (20 मार्च) को जमानत दे दी। ड्यूटी मजिस्ट्रेट ऋतु सिंह ने जौहरी की जमानत अर्जी मंजूर करते हुए प्रोफेसर को उनके खिलाफ दर्ज आठ प्राथमिकियों में प्रत्येक के लिए 30-30 हजार रुपये का मुचलका भरने का आदेश दिया। प्रोफेसर ने जमानत याचिका दायर करते हुए कहा कि जेल भेजे जाने से उनका कॅरियर खत्म हो जाएगा।

सैकड़ों छात्रों ने किया था वसंत कुंज थाने पर प्रदर्शन

गौरतलब है कि कुछ छात्राओं द्वारा प्रोफेसर पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए जाने के बाद छात्र और महिला अधिकार संगठन उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। इससे पहले प्रोफेसर की गिरफ्तारी की मांग को लेकर सोमवार रात को जेएनयू के सैकड़ों छात्रों ने वसंत कुंज थाने के बाहर प्रदर्शन किया था। उनके साथ ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक वीमेन्स एसोसिएशन और ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन सहित महिला अधिकार संगठनों ने इस मुद्दे को लेकर थाने के बाहर प्रदर्शन किया।

4 पीडि़त लड़कियों ने कोर्ट में दर्ज कराया बयान

विरोध बढ़ते देख पुलिस ने प्रोफ़ेसर अतुल जौहरी को हिरासत में लेकर पूछताछ की और उसके बाद उन्‍हें गिरफ़्तार कर लिया। उन्हें दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्‍हें जमानत मिल गई। 4 पीड़ित लड़कियों ने कोर्ट में उनके खिलाफ़ बयान दर्ज कराया है। जेएनयू के स्कूल ऑफ़ लाइफ़ साइंसेंस की छात्राएं प्रोफ़ेसर अतुल जौहरी के निलंबन और उनकी गिरफ़्तारी की मांग को लेकर लगातार विरोध प्रदर्शन कर रही थीं। वहीं, आरोपी प्रोफ़ेसर का कहना है कि उन्होंने 75% हाज़िरी को लेकर सख़्ती दिखाई, इसलिए साज़िश के तहत उनके ऊपर आरोप लगाए जा रहे हैं।

दिल्‍ली पुलिस ने नहीं मांगी रिमांड

प्रोफेसर अतुल के वकील ने कोर्ट में कहा कि प्रोफेसर 2004 से जेएनयू में काम कर रहे हैं, उन्हें राजनीतिक साजिश के तहत फंसाया जा रहा है। वहीं, पुलिस ने कोर्ट में कहा उन्हें अतुल जौहरी की कस्टोडियल रिमांड नहीं चाहिए, इसके बाद प्रोफेसर के वकील ने कोर्ट में बेल की अर्जी लगाते हुए कहा कि जेल भेजने से उनके क्लाइंट का कॅरियर खत्म हो जाएगा। इससे पहले दिल्ली पुलिस ने अतुल जौहरी के खिलाफ कथित यौनाचार के मामले में आठ प्राथमिकी दर्ज की थी। संयुक्त पुलिस आयुक्त अजय चौधरी ने कहा, ‘हमने शिकायतकर्ताओं के बयान दर्ज किए हैं। कुछ अन्य छात्राओं ने भी पुलिस से संपर्क किया है और जौहरी के खिलाफ उसी तरह के आरोप लगाए हैं। इसकी जांच की जा रही है। उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू की जाएगी। जांच की निगरानी अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त मोनिका भारद्वाज कर रही हैं।’