गोपनीयता नीति का संकलन इसलिए किया गया है जिससे उन लोगों की सहायता की जा सके जिन्हें बात की चिंता रहती है कि उनकी व्यक्तिगत पहचान का इंटरनेट पर किस तरह से उपयोग हो रहा है।

अमेरिका के व्यक्तिगत कानून और सूचना सुरक्षा के अनुसार, “पीआईआई” का उपयोग किसी भी व्यक्ति की पहचान, उससे संपर्क बनाने या उसका पता लगाने के लिए किया जा सकता है। कृपया हमारी गोपनीयता नीति को ध्यान से पढ़ें और  समझें कि हम कैसे आपसे जुड़ी निजी जानकारियों का संग्रह, उपयोग और उसकी सुरक्षा करते हैं।

वेबसाइट या ब्लॉग पर विजिट करने के लिए विजिटर को कौन सी जानकारियां देनी आवश्यक है?

वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करने के लिए विजिटर का नाम, ई-मेल एड्रेस, वेबसाइट और अन्य विवरण लिया जाता है।

जानकारी कब लेना आवश्यक है?

यह जानकारी तब आवश्यक हैं जब विजिटर हमारी न्यूजलेटर की सदस्यता लें फॉर्म भरें या हमारी साइट पर कोई जानकारी डालें |

जानकारी का उपयोग कैसे होता है?

आपके द्वारा जो जानकारी दी जाती है उसका उपयोग हम रजिस्टर करते समय, खरीदारी करते समय, न्यूजलेटर की सदस्यता लेते समय, सर्वेक्षण भरते समय तथा वेबसाइट की अन्य सुविधा लेते समय कर सकते हैं। निम्‍नलिखित स्थितियों में भी हम आपकी जानकारी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं –

– उपयोगकर्ता का अनुभव निजीकृत करने और उसे उसकी रुचि की सामग्री उपलब्‍ध कराने पर

– हमारी वेबसाइट को बेहतर बनाना जिससे आपकी अच्‍छे से सेवा की जा सके

– प्रयोगकर्ता के अनुरोध पर बेहतर सेवा के लिए

सुरक्षित कनेक्शन : इंटरनेट प्रयोगकर्ता ब्राउजर के माध्यम से वेबसाइट से जो भी डाटा डाउनलोड करता है, वह HTTPS द्वारा पूरी तरह सुरक्षित होता है।

हटाए गए कर्मचारी : हम यह सुनिश्चित करते हैं कि गोपनीय और आंतरिक सूचनाओं को सुरक्षित रखने के लिए कंपनी द्वारा हटाये गए कर्मचारी की पहुँच हमारे सिस्टम या सर्वर तक न पहुंचे।

डाटा सिक्यूरिटी ऑफिसर : डाटा सिक्यूरिटी अधिकारी आईटी विभाग के साथ मिलकर काम करता है और सुरक्षा की निगरानी करता है।

संभावित खतरों से निपटना : यह महत्‍वपूर्ण है कि किसी भी तरह खतरे या हैकिंग से बचने के लिए उनकी समय रहते पहचान कर लें। हम नियमित रूप से अपने नेटवर्क की जाँच करें और यह हमारी दिनचर्या में भी शामिल होना चाहिए क्‍योंकि हैकर्स को अपना काम करने में कुछ मिनट ही लगते हैं।