• गृहमंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने झंडी दिखाकर की लखनऊ मेट्रो सेवा की शुरुआत

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ में मंगलवार को मेट्रो सेवा की शुरुआत हो गई। गृहमंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने झंडी दिखाकर लखनऊ मेट्रो सेवा की शुरुआत की। इस मौके पर राज्‍यपाल राम नाईक और शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी भी मौजूद थे। इसके साथ ही लखनऊ देश का नौंवा शहर हो गया, जहां मेट्रो ट्रेन की परियोजना चालू हालत में है।  हालांकि, जनता के लिए मेट्रो सेवा बुधवार से शुरू होगी।

मेट्रो की शुरुआत होने से लखनऊ की सड़कों पर यातायात का दबाव कम होने की उम्मीद है। फिलहाल मेट्रो ट्रेन चालू होने से तीन लाख यात्रियों को लाभ होने का अनुमान है। 80 किमी प्रतिघंटा की स्पीड से चलने वाली इस मेट्रो ट्रेन में 64 मोबाइल चार्जिंग पाइंट दिए गए हैं। उद्घाटन के मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम एक यूपी मेट्रो कॉरपोरेशन का गठन करेंगे जो उत्तर प्रदेश के कई शहर में मेट्रो विकसित करे। हम श्रीधरनजी से प्रधान सलाहकार के रूप में सहयोग की अपेक्षा करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब इंतजार खत्म हो गया है और बुधवार से राजधानीवासियों को मेट्रो की सहूलियत मिलेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कानपुर, आगरा, इलाहाबाद, वाराणसी, मेरठ में भी मेट्रो को लेकर काम चल रहा है। इस अवसर पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि जिस शहर में मेट्रो ट्रेन चलती है, उस शहर में विकास का नया द्वार खुल जाता है।

बता दें कि अभी पहले चरण में ट्रांसपोर्ट नगर से चारबाग के बीच मात्र 8.5 किमी तक ही मेट्रो ट्रेन चलेगी। इसका अगला चरण चारबाग से मुंशी पुलिया तक होगा। दोनों को मिलाकर मेट्रो ट्रैक की लंबाई 23 किमी हो जाएगी। योजना के अनुसार, शहर में मेट्रो का सफर आने वाले दिनों में 72 किमी तक का हो जाएगा। बताया जा रहा है कि राजधानी की 50 लाख जनता इससे लाभान्वित होगी।

क्या हैं लखनऊ मेट्रो में फीचर्स 

लखनऊ मेट्रो ट्रेन सभी स्टेशनों पर खुद-ब-खुद रुकेगी। बताया जा रहा है कि मेट्रो ट्रेन के पहिये से बिजली भी पैदा की जा सकेगी। वहीं सफर करने वाले यात्रियों पर कंट्रोल रूम से निगरानी रखी जा सकेगी। आपात स्थिति में मेट्रो पर कंट्रोल रूम से ब्रेक लगाया जा सकेगा। कोच में लगी एलईडी रोशनी बाहर के हिसाब से खुद कम ज्यादा होती रहेगी। यात्री इमरजेंसी के हालात में सीधे ट्रेन ऑपरेटर से बात कर सकेंगे। जहां तक बात सुविधा की है तो स्टेशनों पर भी यात्री सुविधाएं बेहतरीन हैं। फ्री वाई-फाई के साथ स्टेशन ग्रीन टॉयलेट से लैस हैं। इस मेट्रो में सुरक्षा सिस्टम भी सबसे आधुनिक है। ट्रेन काफी तेजी से रफ्तार पकड़ती है और उतनी ही तेजी से ये रोकी भी जा सकती है।