विश्‍व में ऊर्जा के क्षेत्र में निवेश में चीन 21 प्रतिशत हिस्‍सेदारी के साथ पहले स्थान पर आता है। चीन में ऊर्जा निवेश की प्रवृत्ति बदल गई है क्योंकि पिछले साल की तुलना में उद्योग में निवेश में 25 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है।

उर्जा के क्षेत्र में संयुक्त राज्य अमेरिका दूसरे नंबर पर है, इसके बाद भारत तीसरे स्थान पर है। ऊर्जा के क्षेत्र में पिछले साल की अपेक्षा 7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। इस तरह चीन और अमेरिका भारत के प्रमुख प्रतियोगी के रूप में सामने आए हैं। जहां भारत के निवेश में वृद्धि दर्ज की गई तो वहीं यूरोपीय देशों में 10 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है।




http://www.iea.org/publications/wei2017/