गुजरात चुनाव के दौरान नोटबंदी और जीएसटी को लेकर विपक्ष के आरोपों का सामना कर रही केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के लिए वर्ल्‍ड इकोनॉमिक फोरम  (WEF) का एक सर्वे खुशखबरी लेकर आया है। सर्वेक्षण में मोदी की अगुवाई वाली केंद्र की भाजपा नीत एनडीए सरकार को दुनिया की तीसरी सबसे भरोसेमंद सरकार बताया गया है। सर्वे के मुताबिक, देश की तीन-चौथाई आबादी को पीएम मोदी के नेतृत्व पर भरोसा है और जनता उनके द्वारा लिए गए हर फैसले में उनके साथ खड़ी है। प्रस्‍तुत है धर्मेन्‍द्र त्रिपाठी की रिपोर्ट –  

वर्ल्‍ड इकोनॉमिक फोरम के हाल ही में किए गए सर्वे के मुताबिक विश्व में अपनी जनता का भरोसा जीतने वाली सरकारों में भारत की नरेंद्र मोदी सरकार का नंबर तीसरा है। अर्थात् केंद्र की मोदी सरकार के पिछले साढ़े तीन साल के कार्यकाल से देश की जनता खुश है। इस फेहरिस्त में पहले स्थान पर स्विट्जरलैंड और दूसरे नंबर पर इंडोनेशिया की सरकार है। सर्वे में स्विट्जरलैंड की सरकार पर 82 फीसदी जनता ने भरोसा जताया है, वहीं इंडोनेशिया की सरकार पर भी वहां की 82 प्रतिशत जनता ने भरोसा जताया है। भारत में मोदी सरकार पर देश की 73 फीसद आबादी ने भरोसा व्यक्त किया है। वहीं, फिनलैंड, स्‍वीडन, डेनमार्क और ऑस्‍ट्रेलिया इस मामले में निचले पायदान पर हैं।

वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम द्वारा किए गए सर्वेक्षण के नतीजे

सर्वेक्षण के अनुसार, करीब तीन चौथाई भारतीयों ने केंद्र की मोदी सरकार में अपना भरोसा जताया। यह सर्वे अर्थव्‍यवस्‍था की हालत, राजनीतिक बदलाव और भ्रष्‍टाचार मामलों को लेकर किए गए थे। सर्वेक्षण के नतीजों में कहा गया है कि देश में भ्रष्‍टाचार विरोधी मुहिम और कर सुधारों के कारण सरकार में लोगों का भरोसा बढ़ा है। यह सर्वेक्षण ऐसे समय में आया है, जब विपक्षी दल गुजरात विधानसभा चुनाव प्रचार में जीएसटी और नोटबंदी जैसे मुद्दों को लेकर प्रधानमंत्री मोदी की सरकार और भाजपा को निशाना बना रहे हैं।

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जे पी नड्डा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर यह सूची साझा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दी और कहा कि सर्वेक्षण के नतीजे दर्शाते हैं कि देश प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्‍व में सही दिशा में आगे बढ़ रहा है।

अमेरिका में पिछले दिनों हुए एक सर्वेक्षण में जहां पीएम मोदी को सबसे लोकप्रिय राजनीतिक हस्‍ती बताया गया और कहा गया कि जनता नोटबंदी समेत उनके कई फैसलों के साथ है, वहीं बीते 17 नवंबर को अमेरिका की रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भी भारत की रेटिंग में सुधार करते हुए उसे बीएए2 कर दिया था। मूडीज ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी का भारतीय अर्थव्यवस्था पर सकारात्मक असर पड़ा है। यही नहीं, इसी साल अंतरराष्‍ट्रीय एजेंसी इप्सॉस मोरी (Ipsos Mori) के दुनियाभर में किए गए नए ऑनलाइन सर्वे में 12 प्रभावशाली देशों की सूची में भारत को 7वां स्‍थान मिला है। इस सर्वे में भारत सकारात्मक प्रभाव वाले देशों की सूची में अमेरिका और चीन से ऊपर है। इप्सॉस मोरी, मूडीज और अब वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के इस सर्वे के बाद यह कहा जा सकता है कि 3 साल के बाद भी पीएम मोदी का जलवा कायम है और देश में मोदी लहर बरकरार है।

देखें लिंक – भारत ने गुडविल के मामले में अमेरिका-चीन को पीछे छोड़ा

http://the2ishindi.com/?p=7163

सरकार पर भरोसा क्यों

अपनी सरकार पर भरोसा करना हमारे अपने हित में है क्योंकि यह आर्थिक विकास को बढ़ावा देता है। ज्‍यादातर लोगों का विश्वास है कि अपनी सरकार पर भरोसा करने से निवेश और खर्च करने की संभावना बढ़ती है, जो अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ बनाता है। आधिकारिक नीतियां और सरकार की पहल भी काम करने को बढ़ावा देती हैं। उदाहरण के लिए, अगर लोग अपनी सरकार पर भरोसा करते हैं तो उनके द्वारा करों का भुगतान और नियमों का पालन करने की अधिक संभावना होती है।

ऑर्गनाइजेशन फॉर इकोनॉमिक को-ऑपरेशन एंड डेवलपमेंड (OECD) के अनुसार, सरकारों को अपने नागरिकों के विश्वास को वापस जीतने के लिए और भी कुछ करना चाहिए। उन्हें स्‍वास्‍थ्‍य, रोजगार और शिक्षा समेत अन्‍य सार्वजनिक सेवाओं में और अधिक धन लगाने की जरूरत है, जिसका लाभ हर नागरिक को मिल सके। उन्हें यह भी सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि उनके सभी नागरिकों की पहुंच सरकारी सेवाओं तक हो सके।