लड़कियों से ज्यादा लड़के ढूंढ़ रहे इंटरनेट पर रिश्ते, शादी के लिए सबसे ज्यादा इस राज्य में हुए रेजिस्ट्रेशन

311 0

नई दिल्ली। शादी के लिए अच्छा रिश्ता मिलना बहुत मुश्किल है। लोग कई ऑनलाइन मेट्रिमोनियल साइट्स की मदद लेते हैं। हाल ही में एक ऐसी रिसर्च सामने आई है जिसे जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे। रिसर्च के मुताबिक, इंटरनेट में लड़कियों से दोगुने लड़के रिश्ते ढूंढ रहे हैं।

रजिस्ट्रेशन करवाने के मामले में पुरुष 69 फीसदी और महिलाओं की भागीदारी 31 फीसदी है। रिसर्च के मुताबिक देश में अन्य राज्यों के मुकाबले ऐसी साइट्स पर तमिलनाडु से सर्वाधिक रजिस्ट्रेशन होते हैं।

ऐसी साइट्स पर सर्वाधिक रजिस्ट्रेशन फाइनेंशियल बैकग्राउंड, आईटी और इंजीनियरिंग क्षेत्र के युवा करवा रहे हैं।इंडस्ट्री चैंबर एसोचैम के मुताबिक वर्ष 2017-18 तक देश में ऑनलाइन मेट्रिमोनियल सर्च का बाजार करीब 24 सौ करोड़ रुपए था जिसके वर्ष 2020 तक छह हजार करोड़ रुपए होने का अनुमान है। देश में करीब एक करोड़ शादियां प्रति वर्ष होती हैं। देश में होने वाली शादियों में अभी 10 फीसदी से कम हिस्सेदारी ऑनलाइन मेट्रिमोनियल साइट्स की है।

20 से 35 वर्ष के युवाओं में से 75% खुद अपना प्रोफाइल रजिस्टर करते हैं। वहीं 25% युवाओं के प्रोफाइल परिजन और परिवार के सदस्यों के द्वारा रजिस्टर किए जाते हैं। रिसर्च के मुताबिक, शादी डॉटकॉम जैसी साइट्स पर रजिस्टर होने वाले लोगों में करीब 35 फीसदी युवक- युवती छोटे शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों से आते हैं।

Related Post

अनिल अंबानी को झटका, रिलायंस इन्फ्राटेल के सामान की बिक्री पर रोक

Posted by - March 8, 2018 0
मुंबई। रिलायंस कम्युनिकेशन्स को बंद करने वाले अनिल अंबानी को अब राष्ट्रीय कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) ने तगड़ा झटका दिया…

शर्मनाक : हॉस्टल में गंदे सेनेटरी पैड मिलने पर वार्डन ने उतरवाए छात्राओं के कपड़े

Posted by - March 26, 2018 0
मध्‍य प्रदेश के डॉ. हरिसिंह गौर यूनिवर्सिटी का मामला, पीडि़त छात्राओं ने की कुलपति से शिकायत भोपाल। मध्‍य प्रदेश के सागर…

केरल के लव जेहाद मामले को राजनैतिक रंग देने से सुप्रीम कोर्ट नाराज

Posted by - October 9, 2017 0
नई दिल्ली। केरल लव जिहाद मामले को राजनैतिक रंग देने पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने गहरी नाराजगी जताई। कोर्ट ने…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *