स्कूल छोड़कर भैसों को चारा खिला रहा है योगेश, ऐसे बच्चे कैसे समझेंगे शिक्षा का महत्व?

76 0

अंकज शुक्ल

बहराइच। योगेश( काल्पनिक नाम) रोज सुबह जल्दी उठकर भैसों को चारा खिलाता है। गाय, भैंस की देखभाल वो खुद ही करता है। पहले उसके चाचा ये काम किया करते थे। लेकिन जब से उनकी किडनी खराब हुई तब से 9 साल के योगेश ने उनकी ये जिम्मेदारी उठा ली। इसे शिक्षा के प्रति जागरुकता की कमी ही कहेंगे जिसके वजह से परिवार वालों ने उसे स्कूल जाने से मना कर दिया। पढ़ना हर बच्चे के लिए जरुरी है ”क्योंकि पढ़ेगा इंडिया तभी तो बढ़ेगा इंडिया”। ये नारा देश की सरकार का है लेकिन अब सवाल ये उठता है कि क्या इस तरह सच में आगे बढ़ पाएगा इंडिया।

ये मामला बहराइच के नवाबगंज ब्लॉक के पचपकड़ी गांव का है। दूसरी क्लास में पढ़ने वाले योगेश से जब हमारे रिपोर्टर ने स्कूल न जाने की वजह पूछी तो उसने कहा- काका की किडनी खराब है। अगर स्कूल जाउंगा तो भैंस कौन चराएगा।

ये तो सिर्फ योगेश का मामला है। लेकिन ऐसे न जाने कितने बच्चे होंगे जो किसी न किसी वजह से स्कूल नहीं जा पाते हैं। गांव में आज भी कई ऐसे कई लोग हैं जो शिक्षा के महत्व से अंजान हैं। जाहिर सी बात है, जब तक भारत का हर बच्चा नहीं पढ़ेगा तब तक देश का विकास सुचारू ढंग से नहीं हो पाएगा। सभी लोगों को शिक्षा का महत्व समझना होगा। शिक्षित होने पर ही हम अपने समाज, गांव व देश का विकास कर सकेंगे।

अभिज्ञा फाउंडेशन प्राथमिक शिक्षा के क्षेत्र में सुधार, माता-पिता एवं बच्चों, माता-पिता एवं अध्यापकों के बीच के संवाद अंतर को कम करने की दिशा में प्रयासरत है। अभिज्ञा फाउंडेशन शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने वाली एक गैर-लाभकारी संस्था है इसलिए संस्था का मिशन है शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार करके बच्चों को अपने साथियों के बीच और बाहरी दुनिया में बेहतर प्रतिस्पर्धा करने के लिए तैयार करना जिससे देश आने वाले समय में कार्य करने वाले युवा-वर्ग, जो कि 2030 में पूरे विश्व में भारत में सर्वाधिक होंगे, का देश के विकास में सफलतम उपयोग कर सके।

Related Post

रिसर्च : वैज्ञानिकों ने दी धरती पर 3.7 अरब साल पहले जीवन की शुरुआत के दावे को चुनौती

Posted by - October 22, 2018 0
न्‍यूयॉर्क। वैज्ञानिक मान्‍यता है कि पृथ्वी पर करीब 3.7 अरब साल पहले जीवन की शुरुआत हुई थी। वर्ष 2016 में…

SC ने बदली 800 साल पुरानी प्रथा, सबरीमाला मंदिर में अब जा सकेंगी सभी महिलाएं

Posted by - September 28, 2018 0
नई दिल्ली।  सुप्रीम कोर्ट ने अपने अहम फैसले में केरल के सबरीमाला मंदिर में हर उम्र की महिलाओं को प्रवेश करने और पूजा…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *