दुनिया के 20 शहर करेंगे तेजी से तरक्की, इनमें भारत के होंगे इतने शहर

65 0

नई दिल्ली। ऑक्सफोर्ड इकोनॉमिक्स नाम के रिसर्च हाउस ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि दुनिया के 20 शहर तेजी से तरक्की करेंगे और इनमें भारत के 17 शहर होंगे। जीडीपी के हिसाब से ये रिपोर्ट तैयार की गई है।

रिपोर्ट कहती है कि भविष्य की जीडीपी देखी जाए, तो 2019 से 2035 के बीच भारत के 17 शहर तेजी से विकसित होंगे। इनमें बेंगलुरु, हैदराबाद और चेन्नई सबसे तेजी से आगे बढ़ेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक गुजरात का सूरत शहर भी तेजी से विकसित होगा। इसके बाद आगरा और बेंगलुरु होंगे। हैदराबाद चौथे नंबर पर रहेगा। इसके बाद नागपुर, तिरुपुर, राजकोट, तिरुचिरापल्ली, चेन्नई और विजयवाड़ा होंगे।

ऑक्सफोर्ड इकोनॉमिक्स की रिपोर्ट कहती है कि सूरत के तेजी से विकसित होने की वजह हीरों का व्यापार और आईटी सेक्टर होगा। वहीं, बेंगलुरु, हैदराबाद और चेन्नई को टेक्नोलॉजी हब माना जाता है। इन शहरों में फिनांशियल फर्म भी हैं। वहीं, वियतनाम का नोम पेन्ह भी इस दौरान तेजी से बढ़ रहा होगा। अफ्रीका का दार अस सलाम भी तेजी से बढ़ने वाले शहरों में शामिल हो जाएगा।

2035 में जनसंख्या के लिहाज से टॉप 10 शहरों में मुंबई पहले नंबर पर होगा। ऑक्सफोर्ड इकोनॉमिक्स के ग्लोबल सिटीज रिसर्च हेड रिचर्ड हॉल्ट ने एक अंग्रेजी अखबार को बताया कि 2035 तक भारत के शहरों की कुल जीडीपी, चीन, यूरोप और उत्तरी अमेरिका से कम होगी, लेकिन वे बेहतर परफॉर्म करेंगे। रिचर्ड के अनुसार 2035 तक लंदन के साथ शंघाई दुनिया की चौथी सबसे बड़ी शहरी इकोनॉमी होगा। 2027 तक एशिया के सारे शहरों की कुल जीडीपी उत्तरी अमेरिका और यूरोप के शहरों की कुल जीडीपी से ज्यादा होगी।

रिपोर्ट कहती है कि 2035 तक एशियाई शहरों की जीडीपी 17 फीसदी तक बढ़ जाएगी। तब भी न्यूयॉर्क अपने बिजनेस और फिनांशियल सेक्टर की वजह से दुनिया की सबसे बड़ी शहरी अर्थव्यवस्था होगा। इसके बाद टोक्यो और लॉस एंजेलेस होंगे। चौथे स्थान पर शंघाई और लंदन रहेंगे।

Related Post

संयुक्त राष्ट्र ने कहा – कश्मीर में मानवाधिकारों का उल्लंघन, भारत ने किया खारिज

Posted by - June 15, 2018 0
संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद ने अपनी रिपोर्ट में भारतीय सुरक्षाबलों पर उठाए सवाल नई दिल्‍ली। भारत ने संयुक्त राष्ट्र की…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *