दुनिया में पहली बार किसने बनाए थे रोबॉट, ये कहानी आपका सिर चकरा देगी

71 0

लंदन। शिवजी ने भगवान गणेश का सिर काट दिया। फिर हाथी का सिर उनके धड़ से जोड़ दिया। रामायण और महाभारत में जिन अमोघ अस्त्रों की बात कही गई है, वे परमाणु बम थे। कुल मिलाकर प्राचीन कथाओं में बताया जाता है कि उस दौरान भी सभ्यता काफी विकसित थी। तकनीकी में हम अडवांस थे। ऐसा ही कुछ दूसरी पौराणिक कहानियों में भी मिलता है। मसलन, ग्रीस की पौराणिक कथाएं भी कहती हैं कि वहां रोबॉट हुआ करते थे।

ग्रीस की एक पौराणिक कथा कहती है कि जेसन और अर्गोनॉट्स जब घर लौट रहे थे, तो वे क्रीट नाम के द्वीप पर रुके। वहां उन पर एक बड़े रोबॉट ने हमला कर दिया। कहानी के मुताबिक ग्रीक देवता हेपेस्टस ने ये रोबॉट राजा मिनोस के राज्य को बचाने के लिए बनाया था। तांबे से ये रोबॉट बना था और उसका नाम टेलोस था। ग्रीस की पौराणिक कथा कहती है कि टेलोस नाम का रोबॉट किसी भी विदेशी जहाज को देखते ही उस पर पत्थर फेंकने लगता था। कथा में है कि जादूगरनी मेडिया ने जेसन और अर्गोनॉट्स की रोबॉट से रक्षा की। जादूगरनी ने अपने दिमाग से उसे कंट्रोल किया और उसके घुटने के जोड़ को खोल दिया। जिससे रोबॉट के भीतर भरा द्रव बाहर निकल गया और वो बेकार हो गया।

खास बात ये है कि मौजूदा दौर में जो रोबॉट बनते हैं, उनके भीतर भी जोड़ों को क्रियाशील रखने के लिए चिकनाहट वाले लिक्विड भरे जाते हैं। तो सवाल ऐसे में ये उठता है कि ग्रीस वालों को कैसे भला पता था और उन्होंने अगर कल्पना भी की, तो इस तरह रोबॉट होगा और किस तरह वो चलेगा-फिरेगा, उसकी कल्पना आखिर उन्होंने कैसे की होगी! तो क्या ग्रीस वालों ने रोबॉट बना लिया था ? इस सवाल के जवाब में उस दौर का कोई रोबॉट तो नहीं मिला है, लेकिन मौजूदा रोबॉट और पौराणिक कथा में बताया गया टेलोस नाम का रोबॉट एक जैसे लगते हैं और ये ही हैरान करने वाली बात है।

पौराणिक ग्रीक कथा में बताया गया है कि टेलोस को बनाया गया था। जैसा कि कहा गया है कि जादूगरनी मेडिया ने दिमाग से उसे कंट्रोल किया। यानी ये रोबॉट सोच भी सकता था। उसके बारे में पौराणिक कथाओं में कहा गया है कि वो अपने प्रोग्राम के हिसाब से ही काम करता था। जैसा कि “अ स्पेस ओडिसी” में एचएएल नाम का सुपर कम्प्यूटर करता है। टेलोस की कहानी किसी मशीन को ताकत देने से होने वाले खतरे की ओर भी संकेत करती है। बताना जरूरी है कि मौजूदा दौर में भी तमाम वैज्ञानिक कहते हैं कि रोबॉट अगर ज्यादा समझदार बना दिए गए, तो वे इंसानों को खत्म तक कर सकते हैं, क्योंकि उनमें फैसले लेने की क्षमता नहीं होती है और अपनी प्रोग्रामिंग के हिसाब से वे काम करते हैं।

ग्रीस की पौराणिक कथाओं में टेलोस ही अकेला रोबॉट नहीं है। रोमन देवता हेपेस्टस के बारे में कहा गया है कि उन्होंने ड्रोन जैसा एक तीर बनाया था। जो अपने निशाने पर अचूक मार करता था। इसी तरह एक मशीन कुत्ता भी बनाया था, जो अपने शिकार को पकड़ता था। नथुनों से आग निकालने वाले तांबे से बने बैलों की बात भी इसमें कही गई है। साथ ही देवताओं को पसंदीदा सामान पहुंचाने और भोजन देने वाले खुद चलने में सक्षम मशीनों की बात भी इसमें है। पौराणिक कथाएं ऐसे जहाजों की बात भी करती है, जो किसी भी मौसम में बिना किसी परेशानी के किसी भी बंदरगाह तक पहुंचजाते थे।

इसमें बताया गया है कि पिगमैलियन को अपनी ही बनाई मशीनी औरत से किस तरह प्यार हो गया। ऐसी मूर्तियों की बात भी इसमें है, जो चलती-फिरती थीं और जिन्हें डिडेलस ने बनाया था।

ग्रीस के बारे में जानकारी रखने वाली इतिहासकार एड्रियेने मेयर का मानना है कि ग्रीक लोग बड़ी-बड़ी मूर्तियां बनाते थे। खासकर सार्डिनिया में बड़ी मूर्तियां बनती थीं और दूर से देखने पर इंसान जैसी ही लगती थीं। एड्रियेने के मुताबिक हो सकता है, ग्रीक लोगों ने ऐसी ही कुछ मूर्तियों में मशीन लगा दी हो। वो कहती हैं कि ग्रीस में मशीनों और रोबॉट की कहानियां मौजूदा दौर की मेट्रोपोलिस, ब्लेड रनर और टर्मिनेटर जैसी ही हैं। जिनके पास किसी काम को प्रोग्राम के हिसाब से करने की ताकत है और जो अत्याधुनिक हथियार लेकर चलते हैं।

एड्रियेने का कहना है कि ग्रीक दार्शनिक अरस्तू का विचार था कि गुलामों की जगह काम कराने के लिए मशीनें होनी चाहिए। इसी तरह पिगमेलियन ने दुनिया का पहला ऐसा रोबॉट बनाया था, जो सेक्स के काम आता था।

ग्रीस ही नहीं, एक ईरानी पौराणिक कहानी कहती है कि सिकंदर के लिए आग उगलने वाले 1000 मशीनी सैनिक बनाए गए थे। ये सैनिक अरस्तू की सलाह पर बनाए गए और भारत में राजा पुरु के खिलाफ हमले में इनका इस्तेमाल भी किया गया। इतिहासकार एड्रियेने मेयर कहती हैं कि सिकंदरिया के हेरॉन और बाइजेंथियम के फिलो नाम के कैरेक्टर बताते हैं कि उस जमाने में भी तकनीकी विकसित हुई थी। एड्रियेने की बात मान लें, तो ग्रीस की सभ्यता पहली ऐसी थी, जिसने रोबॉट का आविष्कार किया था।

Related Post

जस्टिस जोसेफ प्रकरण : कोलेजियम बैठक से पहले जस्टिस चेलमेश्वर छुट्टी पर गए

Posted by - May 2, 2018 0
जस्टिस केएम जोसेफ की सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति को लेकर बुधवार को होनी है कोलेजियम की अहम बैठक नई दिल्‍ली। लगता…

रजनीकांत ने वेबसाइट और पार्टी का लोगो किया लांच, लोगों से जुड़ने की अपील

Posted by - January 2, 2018 0
तमिल सुपरस्‍टार बोले – मेरी पार्टी के तीन मंत्र होंगे – सच्चाई, मेहनत और विकास चेन्‍नई। तमिल सुपरस्टार रजनीकांत ने…

दुनिया के पहले ‘प्राइवेट यात्री’ के रूप में चांद की सैर करेगा यह शख़्स

Posted by - September 20, 2018 0
वाशिंगटन। जाने-माने बिजनेसमैन एलन मस्क की एयरोस्पेस कंपनी ‘स्पेसएक्स’ ने चांद पर जाने वाले पहले सैलानी के नाम की घोषणा कर…

पीएनबी महाघोटाला : नीरव व अन्य आरोपियों के खिलाफ इंटरपोल डिफ्यूजन नोटिस जारी

Posted by - February 16, 2018 0
नई दिल्ली। पंजाब नैशनल बैंक में हुए महाघोटाले के आरोपियों पर शिकंजा कसने की कवायद शुरू हो गई है। करीब…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *