आप 5G मोबाइल कनेक्शन का इंतजार कर रहे हैं, जो टेस्टिंग में ही साबित हुई जानलेवा !

269 0

नई दिल्ली। दुनिया 5G का इंतजार कर रही है, लेकिन क्या आपको मालूम है कि ये 5G पक्षियों के लिए कितना खतरनाक साबित हो सकता है। नीदरलैंड में 5जी सर्विस की टेस्टिंग से जुड़ी एक खबर ने सबको चौंका कर रख दिया है।यहां टेस्टिंग के दौरान करीब 300 पक्षियों की जान चली गई।

खबर है कि नीदरलैंड के शहर हेग के पार्क में कई पक्षियों की मौत हो गई। शुरुआत में लोगों ने इस खबर पर ध्यान नहीं दिया लेकिन जब मरने वाले पक्षियों की तादाद 300 के करीब पहुंच गई तो जांच शुरू की गई।

जांच में सामने आया कि डच रेलवे स्टेशन पर 5G की टेस्टिंग की गई।टेस्टिंग के तुरंत बाद आसपास के पक्षी पेड़ों से नीचे गिरने लगे। आसपास के तालाबों की बतखों में अजीब व्यवहार देखने को मिला। रेडिएशन से बचने के लिए वे बार-बार अपना सिर पानी में डुबोती नजर आईं। डच फूड एंड कंज्यूमर प्रोडक्ट सेफ्टी अथॉरिटी का कहना है कि मरे हुए पक्षियों की लैब में टेस्टिंग हो रही है। मृत पाए गए पक्षियों में जहर के कोई निशान नहीं मिले लेकिन भारी मात्रा में आंतरिक रक्तस्राव हुआ जिसके चलते मौत हुई।

हाल ही में रिलीज हुई 2.0 फिल्म में अक्षय कुमार ने पक्षीराज की भूमिका अदा की है, जो इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड रेडिएशन इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड रेडिएशन (ईएमएफ) के प्रभावों से लोगों को जागरूक करता है। फिल्म में बताया गया है कि रेडिएशन के प्रभाव से पक्षियों की मौत हो रही है। फिल्म साफ संदेश देती है कि सेलफोन और टॉवर से निकलने वाले रेडिएशन से पक्षी काल के गाल में समा रहे हैं। ऐसे में अब सवाल उठ रहे हैं कि क्या भारत में भी इस रिपोर्ट से किसी प्रकार की सीख ली जाएगी या नहीं।

Related Post

फिलीपींस के राष्ट्रपति बोले – ‘कोई ईश्वर को साबित कर दे तो पद से दे दूंगा इस्तीफा’

Posted by - July 8, 2018 0
अपने विवादास्पद बयानों से चर्चा में रहते हैं रोड्रिगो दुतेर्ते, बाइबिल की कहानी  की भी की थी निंदा मनीला। फिलीपींस…

प्राइवेट अस्पतालों में सीजेरियन डिलीवरी की संख्या सरकारी से दोगुनी, जम्मू-कश्मीर पहले नंबर पर

Posted by - August 16, 2018 0
नई दिल्ली। सिजेरियन डिलीवरी इन दिनों आम होती जा रही है। कई बार डिलीवरी में कॉम्प्लिकेशन की वजह से भी…

45 टॉपर्स को गोल्ड मेडल और 123 शोधार्थियों को मिली डॉक्टरेट की उपाधि

Posted by - December 19, 2017 0
गोरखपुर विश्‍वविद्यालय का 36वां दीक्षांत : गोल्ड मेडल गले में पड़ते ही खुशी से दमके चेहरे गोरखपुर। दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *