भारत में तंबाकू से नहीं इस चीज से ज्यादा मरते हैं लोग

100 0

नई दिल्ली। तंबाकू हमारी सेहत के लिए बहुत खतरनाक होता है, ये बात तो सभी जानते हैं लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि प्रदूषण तंबाकू जितना खतरनाक साबित हो रहा है।अगर आप ये सोच रहे हैं कि बाहर का प्रदूषण ही जानलेवा है तो आप गलत हैं। घर के अंदर का प्रदूषण भी उतना ही खतरनाक है। मेडिकल रिसर्च करने सरकारी संस्था ICMR की स्टडी में ये बात सामने आई है।

भारत में पिछले साल यानी 2017 में आठ में से एक इंसान की मौत वायु प्रदूषण से हुई है। स्टडी में ये बात सामने आई है कि पिछले साल 2017 में वायू प्रदूषण से हुई मौत में आधे लोगों की उम्र 70 साल से कम थी। वायू प्रदूषण लोगों की औसत उम्र भी घटा रही है। देश की 77 फीसदी आबादी एयर पलूशन की जद में है।

ICMR ने खुलासा किया है कि तंबाकू की तुलना में प्रदूषण से कहीं ज्यादा लोग बीमार पड़ रहे हैं। रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि पिछले साल यानी 2017 में देश में 17.4 लाख लोगों की मौत के लिए कहीं न कहीं एयर पलूशन जिम्मेदार रहा।

स्टडी के अनुसार, लोअर रेस्पिरेटरी इन्फेक्शन की तुलना करें तो ये तंबाकू से ज्यादा एयर पलूशन से हो रहा है। केवल लंग्स कैंसर तंबाकू से ज्यादा हो रहा है। हर एक लाख लोगों में 49 लोगों को लंग्स कैंसर की वजह एयर पलूशन है, तो 62 लोगों में इसकी वजह तंबाकू है। जब कोई तंबाकू का सेवन करता है तो ठीक उसी समय वह ज्यादा प्रभावित होता है, लेकिन प्रदूषण का असर तो इंसान जितनी बार सांस लेगा उतनी बार होगा।

Related Post

लड़ाकू विमान सुखोई-30 से ब्रह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण

Posted by - November 22, 2017 0
दुनिया की सबसे तेज़ सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल ब्रह्मोस का पहली बार भारतीय वायुसेना के सुखोई-30-एमकेआई लड़ाकू विमान से परीक्षण किया…

इंस्पायरिंग मूवी दिखाने से बच्चे एग्जाम में लाते हैं अच्छे मार्क्स, पढ़ाई में हो जाते हैं तेज

Posted by - September 26, 2018 0
कंपाला (युगांडा)। अगर आप अपने बच्चे को इंस्पायरिंग मूवी दिखाएंगे तो पढ़ाई में उनका परफॉरमेंस सुधर जाएगा। ये हम नहीं…

स्टडी : दिल के मरीजों के लिए एंटीबॉयटिक्स जानलेवा, आ सकता है हार्ट अटैक

Posted by - November 21, 2018 0
न्यूयॉर्क। विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि दिल के मरीजों को आमतौर पर ली जाने वाली एंटीबॉयटिक्‍स के प्रति सावधान…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *