यूपी : मिड-डे मील के नाम पर बच्चों को परोसा जा रहा स्तरहीन खाना, ऐसे न मिलेगी पौष्टिकता न बढ़ेगी उपस्थिति

215 0

बहराइच। सरकारी स्कूलों में मिड डे मील स्कीम लागू है, लेकिन बच्चों को परोसे जाने वाले खाने को लेकर अक्सर शिकायतें आती हैं। अभिज्ञा फाउंडेशन की टीम ने यूपी के बहराइच के नवाबगंज ब्लॉक के गांव भगवानपुर करिंगा के सरकरी स्कूल का दौरा किया। यहां उन्होंने बच्चों के साथ मिड-डे मील भी खाया।

अभिज्ञा फाउंडेशन के फाउंडर भारतेंदु त्रिवेदी और प्रोग्राम मैनेजर पावन मिश्रा ने बच्चों को मिलने वाले मिड-डे मील की गुणवत्ता व शुद्धता की जांच करने के लिए उनके साथ जमीन पर बैठकर भोजन किया। उन्होंने बताया कि खाने में तहरी बनी थी जो कि स्तरहीन थी। तहरी में सिर्फ आलू और चावल ही नजर आ रहे थे। खाने में तेल की मात्रा बहुत कम थी । तहरी में ढंग से हल्दी तक नहीं थी और मिर्च ज्यादा थी। खाना इतना सूखा हुआ था कि निगलने में दिक्कत हो रही थी।

अभिज्ञा फाउंडेशन की टीम ने इस बारे में जब स्कूल के प्रिंसिपल अरूण कुमार पाठक से बात की तो उन्होंने बताया कि जो मिलता है वही बनाया जाता है। स्कूल के रसोइया का भी कुछ ऐसा ही कहना था। टीम ने गांव के प्रधान से भी इस बारे में बात करने की कोशिश की, लेकिन उस समय वो गांव में मौजूद नहीं थे।

गौरतलब है कि बच्चों के खाने की इस योजना पर सरकार ने वित्तीय वर्ष 2018-19 में करीब साढ़े दस हजार करोड़ की राशि का प्रावधन कर रखा है। जिसमें करीब 12 करोड़ बच्चों को स्कूलों में पौष्टिक और गर्म खाना देने की व्यवस्था है। इस योजना को लागू करने के पीछे सरकार का लक्ष्य था कि सरकारी स्कूलों में छात्रों की हाजिरी बढ़े, लेकिन ये योजना असरदार साबित होती नजर नहीं आ रही है।

Related Post

CWG : मैरी कॉम के मुक्कों से प्रतिद्वंद्वी ढेर, भारत को मिला एक और सोना

Posted by - April 14, 2018 0
गोल्ड कोस्ट (ऑस्ट्रेलिया)। यहां चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय महिला मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम ने देश को एक और…

चारा घोटाले के चौथे मामले में भी लालू दोषी, जगन्नाथ मिश्रा समेत 5 बरी

Posted by - March 19, 2018 0
रांची। चारा घोटाले के चौथे मामले में आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव दोषी करार दिए गए हैं। ये मामला दुमका…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *