स्टडी : दिल के मरीजों के लिए एंटीबॉयटिक्स जानलेवा, आ सकता है हार्ट अटैक

89 0

न्यूयॉर्क। विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि दिल के मरीजों को आमतौर पर ली जाने वाली एंटीबॉयटिक्‍स के प्रति सावधान रहना चाहिए। शोध में पता चला है कि इन दवाओं के सेवन से हृदय रोगियों की मौत की आशंका बढ़ सकती है। अमेरिकी खाद्य एवं दवा प्रशासन (USFDA) ने लोगों को आगाह किया है कि सामान्य संक्रमण में ली जाने वाली एंटीबॉयटिक्‍स के सेवन के कई वर्षों बाद भी इसके जानलेवा परिणाम सामने आ सकते हैं।

10 साल तक किया अध्‍ययन

अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियॉलजी के विशेषज्ञों ने इस निष्कर्ष पर पहुंचने के पहले हृदय रोग से पीड़ित मरीजों के आंकड़ों पर 10 वर्षों तक अध्ययन किया। शोध के दौरान उन्होंने देखा कि दो हफ्ते से अधिक समय तक क्लैरिथ्रोमाइसिन दवा का सेवन करने वालों में हार्ट अटैक या अचानक मौत की आशंका अधिक थी। क्लैरिथ्रोमाइसिन और एजिथ्रोमाइसिन एक ही समूह की दो आमतौर पर दी जाने वाली दवाएं हैं। विशेषज्ञों ने त्वचा, कान, साइनस और फेफड़ों में संक्रमण के लिए दी जाने वाली एजिथ्रोमाइसिन के प्रति भी सावधान किया है। हालांकि एफडीए की मंजूरी से क्लैरिथ्रोमाइसिन का इस्तेमाल 25 साल से भी अधिक समय से किया जाता रहा है।

बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा

इसी प्रकार न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में छपी एक स्टडी में एंटीबॉयटिक्‍स से इलाज किए गए लाखों मरीजों को शामिल किया गया था। स्‍टडी में कहा गया है कि हार्ट का स्ट्रक्चर चेंज होने की स्थिति में और हार्ट डैमेज होने पर कुछ खास एंटीबॉयटिक्‍स खाने पर हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। स्‍टडी में यह पाया गया कि एजिथ्रोमाइसिन से 5 दिन इलाज करवाने वालों को जानलेवा दिल की बीमारी होने का खतरा 3 गुना ज्यादा हो जाता है। एजिथ्रोमाइसिन कुछ मरीजों में अनियमित दिल की धड़कन का कारण भी बनती है।

एफडीए ने किया अलर्ट

वहीं अमेरिका में डॉक्टरों ने एजिथ्रोमाइसिन, क्लारिथ्रोमाइसिन और इरिथ्रोमाइसिन तीनों का अलग-अलग टेस्ट किया। इस टेस्ट में पता चला कि प्रत्‍येक एंटीबॉयटिक सडन कार्डियक डेथ या वेंट्रीकुलर टैकरिथिमिया का कारण बनता है। इसके बाद एफडीए ने घोषणा की कि एजिथ्रोमाइसिन से दिल के स्‍ट्रक्‍चर में बदलाव हो सकता है, जो धड़कन को अनकंट्रोल कर सकता है। इससे जान भी जा सकती है।

Related Post

अब 3डी सेंसर तकनीक बताएगी हकीकत, पता लग जाएगा हमारे शहर हैं कितने साफ

Posted by - November 1, 2018 0
नई दिल्‍ली। वैज्ञानिकों ने शहरों में सड़कों के किनारे अनधिकृत रूप से फेंके जाने वाले कचरे की मात्रा का पता…

रामदेव बनाएंगे रेडीमेड गारमेंट, कहा- विदेशी कंपनियों का खत्म करेंगे वर्चस्व

Posted by - September 27, 2017 0
लेडीज व जेंट्स अंडरवियर से लेकर स्पोर्ट्सवेयर, एथेनिक और फैशन सभी तरह के परिधान बनाएगी ‘पतंजलि’ योगगुरु बोले – ज्यादातर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *