Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

सर्दियों में खाएं गुड़, बचे रहेंगे प्रदूषण सहित कई तरह की बीमारियों से

116 0

नई दिल्‍ली। सर्दियों में कुछ चीजों का सेवन बहुत ही लाभदायक होता है, इन्‍हीं में से एक है गुड़। कहा जाता है की इसका सेवन सर्दियों में काफी फायदेमंद होता है। विशेषज्ञों का कहना है कि प्राकृतिक मिठाई के तौर पर पहचाना जाने वाला गुड़, स्वाद के साथ ही सेहत का भी खजाना है। यह शरीर से कई बीमारियों को दूर करने में आपकी मदद करता है। यही नहीं, गुड़ का सेवन आपको प्रदूषण से बचाने में भी मदद करता है।

गुड़ में होते हैं ये पोष्‍क तत्‍व

विशेषज्ञ बताते हैं कि देसी गुड़ प्राकृतिक रूप से तैयार किया जाता है और इसे बनाने में किसी रसायन का इस्‍तेमाल नहीं किया जाता है, इसलिए इसे अपने मूल गुण को नहीं खोना पड़ता है।  गुड़ को चीनी का शुद्धतम रूप माना जाता है। गुड़ में कई सारे पोषक तत्‍व होते हैं, जो हमारी सेहत के लिए काफी फायदेमंद हैं। गुड़ में सुक्रोज 59.7%, ग्लूकोज 21.8%, खनिज तरल 26% और पानी का अंश 8.86% होता है। इसके अलावा गुड़ में कैल्शियम, फास्फोरस, लोहा और तांबा भी अच्छी मात्रा में मिलते हैं।  आइए जानते हैं कि गुड़ खाने से हमें कौन-कौन से फायदे होते हैं –

प्रदूषण के दुष्‍प्रभावों से बचाए

प्रदूषण के कारण लोगों को सबसे ज्यादा तकलीफ सांस लेने में होती है। हाल में हुए एक शोध में पाया गया कि धूल और धुएं में काम करने वाले जो मजदूर रोजाना गुड़ खाते थे, उनमें प्रदूषण से होने वाली बीमारियों की आशंका कम पाई गई। दरअसल, गुड़ प्राकृतिक रूप से शरीर से टॉक्सिन्स को बाहर निकालता है और गंदगी को साफ करता है। जहरीली हवा के कारण छोटे बच्चों, बुजुर्गों और कमजोर इम्‍युनिटी वाले लोगों को कई बार दम घुटने का एहसास होता है। इन हालात में गुड़ के प्रयोग से राहत पाई जा सकती है। इसके लिए एक चम्मच मक्खन में थोड़ा सा गुड़ और हल्दी मिला लें और दिन में 3-4 बार इसका सेवन करें।

सर्दी-जुकाम में लाभदायक

गुड़ की तासीर गर्म होने के कारण यह सर्दियों में काफी लाभदायक होता है और अमृत की तरह काम करता है। गुड़ के सेवन से सर्दी-जुकाम आदि समस्याओं से तो छुटकारा मिलता ही है, साथ ही इसे खाने से गले की खराश, जलन और कफ में भी राहत मिलती है। सर्दियों में बच्‍चों के लिए भी गुड़ का सेवन सेहत के लिए काफी अच्छा है। गुड़ को सरसों तेल में मिलाकर खाने से सांस से जुड़ी दिक्कतों से आराम मिलता है। गुड़ हमारे शरीर का मेटाबॉलिज्‍म भी ठीक रखता है।

हड्डियां करें मजबूत

गुड़ में कैल्शियम के साथ फॉस्फोरस भी होता है, जो हड्डियों को मजबूत करने में सहायक है। विशेषज्ञों का कहना है कि चीनी हड्डियों के लिए नुकसानदेह होती है क्योंकि चीनी बहुत ज्‍यादा तापमान पर बनाई जाती है कि जिसके कारण गन्ने के रस में मौजूद फॉस्फोरस खत्म हो जाता है। इसके अलावा जोड़ों में दर्द की समस्या से भी छुटकारा दिलाने में गुड़ का सेवन काफी लाभदायक होता है।

पाचन तंत्र रखे ठीक

सर्दियों में अक्‍सर हम काफी गरिष्‍ठ भोजन करते हैं, इसलिए इस मौसम में गुड़ का सेवन हमारे पाचन तंत्र को मज़बूत करता है। दरअसल, गुड़ हमारे शरीर में पाचन एंजाइम को सक्रिय करता है और इस प्रकार भोजन को ठीक तरह से पचाने में मदद करता है। यह कब्ज से भी राहत दिलाता है। खाना खाने के बाद गुड़ का सेवन पाचन में सहयोग करता है। यही कारण है कि बहुत से लोग भोजन के बाद गुड़ खाना पसंद करते हैं।

मानसिक बीमारियों में भी लाभदायक

गुड़ में विटामिन बी होने के कारण यह मस्तिष्क से संबंधी बीमारियों को दूर करने की भी क्षमता रखता है। हमारे प्राचीन ग्रंथों में भी कहा गया है कि गुड़, दही और मक्खन खाने वालों को बुढ़ापा जल्दी नहीं आता, इसीलिए विशेषकर सर्दियों में गुड़ का सेवन जरूर करना चाहिए।

पेट की समस्याओं से छुटकारा

अगर आपको अक्‍सर पेट की समस्या रहती है तो ये गुड़ आपके लिए रामबाण साबित हो सकता है। जी हां, पेट की समस्याएं दूर करने के लिए गुड़ खाना एक बेहद आसान और फायदेमंद उपाय है। यह पेट में गैस बनना और पाचन क्रिया से जुड़ी अन्य समस्याओं को दूर करने में मदद करता है।

एनीमिया में भी फायदेमंद

जानकार बताते हैं कि एनीमिया यानी खून की कमी होने पर भी गुड़ का इस्‍तेमाल काफी फायदेमंद होता है। गुड़ आयरन का प्रमुख स्रोत है और एनीमिया के मरीज को चीनी के स्थान पर इसका सेवन करना चाहिए। एनीमिया से पीडि़त लोगों को गुड़ और चना खाने की सलाह दी जाती है। दरअसल, गुड़ और चना आयरन से भरपूर होता है और यही कारण है कि एनीमिया से बचने के लिए यह बेहद मददगार साबित होता है। गुड़ और चना आपके शरीर को आवश्यक ऊर्जा भी प्रदान करते हैं।

हिचकी करे दूर

हिचकी आने पर गुड़ को इसे दूर करने के लिए एक अच्छा घरेलू उपाय माना गया है। गुड़ को सूखे अदरक पाउडर (सोंठ) के साथ इस्‍तेमाल करने पर हिचकी में तुरंत लाभ मिलता है। 500 मिलीग्राम सूखे अदरक पाउडर के साथ 3 ग्राम गुड़ को मिलकार इसका मिश्रण बना लें और गर्म पानी के साथ इस मिश्रण को खाएं तो हिचकी से छुटकारा मिल जाएगा।

Related Post

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा : खुदकुशी नहीं, आईएएस अनुराग की हुई हत्या

Posted by - September 27, 2017 0
कर्नाटक कैडर के आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की मौत के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *