प्रदूषण से 89 फीसदी लोग हो रहे बीमार, निजी संस्था के सर्वे में हुआ खुलासा

75 0

नई दिल्ली। दिल्ली समेत उत्तरी राज्यों में बढ़ते वायु प्रदूषण से 89 फीसदी लोगों ने बीमार होने की बात कही है। इतना ही नहीं, प्रदूषण से अपने नर्वस सिस्टम पर असर पड़ने की बात भी लोगों ने एक सर्वे में कही है।

17 शहरों में द क्लीन एयर कलेक्टिव के पब्लिक परसेप्शन सर्वे में लोगों ने वायु प्रदूषण से होने वाले असर पर खुलकर बात की। दिल्ली और एनसीआर के 8.3 फीसदी लोगों ने बताया कि प्रदूषण बढ़ने पर वो कुछ दिन के लिए पहाड़ चले जाते हैं। 50 फीसदी ने बताया कि इस इलाके में हवा अच्छी नहीं है। 24.5 फीसदी लोगों का कहना था कि दिल्ली-एनसीआर में हवा जहरीली है।

89 फीसदी लोगों ने सर्वे करने वाली संस्था को बताया कि प्रदूषण बढ़ने पर वो बीमार महसूस करते हैं। दिल्ली के 83.3 फीसदी लोगों ने बताया कि उनके फेफड़ों पर प्रदूषण का असर पड़ा है। वहीं, 7.3 फीसदी लोगों ने नर्वस सिस्टम पर असर पड़ने की बात कही।

44.7 फीसदी ने बताया कि उन्हें सांस लेने में दिक्कत होती है। 27.5 फीसदी लोगों ने कहा कि आउटडोर एक्टिविटी कम हो गई है। 26.9 फीसदी ने खुद को डिप्रेशन होने की बात कही। जबकि, 51.9 फीसदी ने वायु प्रदूषण से आंख, नाक और गले में तकलीफ बताई। 49.4 फीसदी ने बताया कि प्रदूषण से उनकी स्किन पर असर पड़ा है। वहीं, 31.3 फीसदी ने अस्थमा और 24.2 फीसदी ने छाती में दर्द होने की बात सर्वे में बताई।

57 फीसदी लोगों ने बताया कि जरूरी होने पर ही वे घर से बाहर निकलते हैं। जबकि, 64.7 फीसदी का कहना था कि घर से बाहर वे मास्क पहनते हैं। 31.7 फीसदी ने घर से बाहर न निकलने की जानकारी दी। 17 फीसदी ने कहा कि उन्होंने घर में एयर प्यूरिफायर लगाया है। जबकि, 28 फीसदी ने बताया कि एसी वाली कार में वे सफर करते हैं।
51.5 फीसदी प्रदूषण को और बढ़ने से रोकने के लिए शेयरिंग कार का इस्तेमाल कर रहे हैं। वहीं, 31.8 फीसदी ने बताया कि वे पब्लिक ट्रांसपोर्ट से जाते हैं। 14.2 फीसदी साइकल से चलने लगे हैं। जबकि, 70.3 फीसदी ने कहा कि कम दूरी के लिए वे पैदल चलते हैं। 56.9 फीसदी ने घर में बिजली का कम इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। 24.7 फीसदी लोगों ने सर्वे में बताया कि वे कूड़ा नहीं जला रहे और ऊर्जा के स्वच्छ स्रोत की ओर शिफ्ट कर रहे हैं। 27.2 फीसदी ने पौधे लगाने की बात कही, तो 10 फीसदी ने बताया कि वे प्रदूषण के प्रति लोगों में जागरूकता बढ़ाने का काम कर रहे हैं।

Related Post

जो मर्द दिन में दो बार चाय या कॉफी पीते हैं उनके पार्टनर के प्रेग्नेंट होने की संभावना दोगुनी

Posted by - October 13, 2018 0
टेक्सास। अमेरिका में हुई एक स्टडी में ये बात सामने आई है कि जो पुरुष दिन में दो बार कॉफी…

आंगनबाडि़यों ने योगी संग शादी का स्वांग रचा जताया विरोध

Posted by - December 6, 2017 0
सीतापुर । आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सहायिकाओं को सम्मानजनक मानदेय देने समेत कई मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रही आंगनबाड़ी…

बीमा कंपनियों के पास लाइफ इंश्योरेंस के हजारों करोड़ रुपये ऐसे जिनका कोई लेनदार नहीं

Posted by - July 28, 2018 0
सरकारी और निजी बीमा कंपनियों के पास अनक्‍लेम्‍ड अमाउंट के रूप में पड़े हैं 15,166.47 करोड़ रुपये नई दिल्‍ली। क्लेम…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *