बदल गया है किलोग्राम, जानिए बाजार जाने पर आप किस तरह तुलवाएंगे कोई चीज

23 0

वर्सेले। किलोग्राम को मापने का तरीका बदल गया है। फ्रांस के वर्सेले में 50 से ज्यादा देशों की एकराय के बाद इसका एलान किया गया। किलोग्राम को मापने का नया तरीका अगले साल शुरू होगा। यहां हम आपको बताने जा रहे हैं कि किलोग्राम को मापने के तरीके में बदलाव का बाजार में आपकी खरीदारी पर क्या असर होने जा रहा है।

किलोग्राम को अब इलेक्ट्रॉन पंप की मदद से मापा जाएगा। ये यंत्र एक बार में बिजली से औसत करंट बनाता है और फिर इसकी गिनती करता है। बता दें कि साल 1889 में पहली बार एक किलोग्राम का पैमाना तय किया गया था। इसके बाद फ्रांस के इंटरनेशनल ब्यूरो ऑफ वेट एंड मेजर्स यानी BIPM में एक कांच के सीलबंद जार में प्लेटिनम और इरिडियम धातु से बना एक सिलेंडर रखा गया और इसके वजन को ही किलोग्राम का नाम दिया गया।

जिस तरह से ऊर्जा को मापने के लिए प्लैंक्स कॉन्स्टैंट का इस्तेमाल होता है, ठीक उसी तरह से अब बदले तरीके से किलोग्राम को मापा जाएगा। वैज्ञानिकों के मुताबिक किलोग्राम को मापने के लिए किसी धातु का इस्तेमाल नहीं होगा। बता दें कि मीटर को नापने के लिए प्रकाश का इस्तेमाल किया जाता है। ठीक उसी तरह अब किलोग्राम को प्लैंक्स कॉन्स्टैंट से नापा जाएगा।

पेरिस में जो किलोग्राम का सिलेंडर रखा है, उसकी 57 नंबर की कॉपी भारत के पास भी है। इस कॉपी को कुछ साल के अंतराल पर पेरिस भेजकर तौला भी जाता है। बाजार में किलोग्राम के जो भी बांट हैं, उनमें लगी बांट और माप विभाग की सील में 57 नंबर ही लिखा जाता है। अब आपको बताते हैं कि किलोग्राम को नए तरीके से मापने का आपकी खरीदारी पर क्या असर पड़ने जा रहा है। तो जान लीजिए कि इसका आपकी खरीदारी पर कोई असर नहीं होगा। पहले की ही तरह किलोग्राम के बांट चलते रहेंगे।

Related Post

हिमाचल में है एक ऐसा मंदिर जहां घर से भागे प्रेमियों को मिलती है शरण

Posted by - June 30, 2018 0
लखनऊ। हिमाचल प्रदेश जितना अपनी प्राकृतिक सुंदरता के कारण जाना जाता है, उतना ही अपनी परम्‍पराओं के कारण भी मशहूर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *