HIV की पहचान होगी आसान, मोबाइल फोन से सिर्फ 400 रुपए में होगी जांच

102 0

वॉशिंगटन। एचआईवी यानी ह्यूमन इम्यूनोडेफिशिएंसी वायरस से एड्स होता है। एड्स में मरीज की बीमारी से लड़ने की ताकत खत्म हो जाती है और छोटी-मोटी बीमारी में भी कोई दवा काम नहीं करती। इस खतरनाक बीमारी का वायरस अफ्रीका के हरे बंदरों से इंसान तक पहुंचा है। दुनिया में लाखों लोग एचआईवी के शिकार हैं, लेकिन इस बीमारी को फैलने से बचाने के लिए तमाम तरीकों पर शोध चल रहा है। फिलहाल वैज्ञानिक ऐसा एप बनाने में कामयाब हुए हैं, जिसका इस्तेमाल कर मोबाइल फोन के जरिए ही पता लगाया जा सकेगा कि किसी को एचआईवी है या नहीं।

फिलहाल एचआईवी की जांच के लिए खून देना होता है। जिसका एलाइजा सीरम टेस्ट करना होता है। इस जांच में काफी वक्त लगता है। ब्रिगह्म एंड वीमेंस हॉस्पिटल के डॉ. हादी शफी के मुताबिक नया एप उन विकासशील देशों में काफी काम आएगा, जहां एचआईवी के मरीजों की तादाद लगातार बढ़ रही है और इस बीमारी की रोकथाम के लिए सरकारी स्तर पर कुछ किया नहीं जा रहा है।

डॉ. शफी का कहना है कि एचआईवी का कोई इलाज नहीं है और जल्दी से जल्दी इसकी पहचान कर बीमारी को फैलने से रोका जा सकता है। इस बीमारी के मरीज की पहचान के लिए ब्लड टेस्ट में भी काफी पैसा खर्च होता है। नया एप इन दोनों ही दिक्कतों को दूर कर देगा।
शफी और उनके साथियों ने जो एप बनाया है, उसके जरिए विकासशील और गरीब देशों के दूर-दराज इलाकों में भी एचआईवी मरीजों की पहचान की जा सकती है। इस एप के साथ नैनो टेक्नोलॉजी के जरिए बनाया गया माइक्रोचिप और फोन से इसे जोड़ने वाला अटैचमेंट बनाया गया है। ये सब मिलकर एक बूंद खून में एचआईवी के वायरस की पहचान कर सकते हैं।

एप और अन्य यंत्र बनाने वाली टीम ने पाया कि इसके जरिए एचआईवी के बारे में 99.1 फीसदी तक पुष्टि हो जाती है। इससे प्रति मिलीलीटर खून में एचआईवी के 1 हजार वायरस की पहचान एक घंटे में की जा सकती है। साथ ही इससे टेस्ट में 5 अमेरिकी डॉलर (करीब 400 रुपए) से ज्यादा खर्चा भी नहीं आता है।

शफी के मुताबिक इस यंत्र और एप के बन जाने के बाद विकासशील देशों में और भी खतरनाक बीमारियों की पहचान के लिए यंत्र बन सकते हैं। ब्रिगहम एंड वीमेंस हॉस्पिटल की रिसर्च टीम में शामिल रहे मोहम्मद शेहता द्राज ने कहा कि दुनियाभर में गरीबों को नए बने यंत्र और एप से जबरदस्त फायदा पहुंचेगा।

Related Post

गुजरात चुनाव की तारीख के ऐलान में देरी पर सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस

Posted by - October 23, 2017 0
गुजरात में चुनाव तारीखों के ऐलान में देरी को लेकर कांग्रेस पार्टी सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है. कांग्रेस पार्टी ने…

भाजपा को ‘वन मैन शो’ और ‘दो-सैनिकों की सेना’ नहीं होना चाहिए : शत्रुघ्न सिन्‍हा

Posted by - November 5, 2017 0
पटना से भाजपा सांसद ने बिना नाम लिए पीएम मोदी और पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह पर साधा निशाना पटना। अभिनेता से…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *