Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

22 हजार रुपए खर्च करके अमेरिका में गाय को गले लगा रहे हैं लोग, बन गया है ट्रेंड

76 0

टेक्सास। इन दिनों अमेरिका में Cow Cuddling बहुत ट्रेंड कर रहा है। Cow Cuddling का मतलब होता है गाय को गले लगाना। इसके लिए अमेरिका में रहने वाले लोग जम कर पैसे भी खर्च कर रहे हैं। माना जाता है जानवरों के साथ समय बिताने से स्ट्रेस कम हो जाता है।

इस अभियान में लोग प्रति 90 मिनट गाय को गले लगाने के एवज में 300 डॉलर खर्च कर रहे हैं। भारतीय मुद्रा के अनुसार यह रकम 22 हजार के आस-पास बैठती है। अब आप सोच रहे होंगे कि 90 मिनट में क्या होता है। इन 90 मिनट में लोग जानवरों के साथ रिलैक्स करते हुए समय बिताते हैं। इस ट्रेंड का उद्देश्य जानवरों की देखभाल और सुरक्षा करना है।

दरअसल, न्यूयॉर्क के माउंटेन हॉर्स फार्म में एक कार्यक्रम चलाया गया था। इसे हॉर्स और काउ एक्सपीरियंस का नाम दिया गया था। इस कार्यक्रम में जानवरों के साथ खेलना और समय बिताना शामिल था, लेकिन अगर जानवर खेलने के मूड में नहीं है तो आप उन्हें गले लगाकर बैठ सकते हैं। इससे लोगों को पॉजिटिव महसूस हो रहा है। इसके पीछे वैज्ञानिक कारण हैं।

बताया गया कि गायों के शरीर का तापमान मानव शरीर से ज्यादा होता है। इसके अलावा, उनकी धड़कन भी मनुष्यों के हृदय की गति से तेज होती है। इसलिए जैसे ही आप किसी गाय को गले लगाते हैं, तुरंत आपकी हृदय गति और शरीर का तापमान सामान्य हो जाता है। बता दें, 90 मिनट के अलावा लोग 60 मिनट भी गाय से गले लगने में दिलचस्पी दिखा रहे हैं। बता दें कि 60 मिनट गले लगने का चार्ज 75 डॉलर है। जैसे ही यह अभियान सामने आया है वैसे ही ज्यादा से ज्यादा लोग इस अभियान से जुड़ने में दिलचस्पी ले रहे हैं। इस अभियान से मिलने वाली रकम से गायों को रहने-खाने की अच्छी से अच्छी व्यवस्था दी जा रही है। साथ ही उनकी सुरक्षा पर यह पैसा खर्च किया जा रहा है।

Related Post

लेनिन, पेरियार और मुखर्जी के बाद अब केरल में गांधीजी की प्रतिमा क्षतिग्रस्त की

Posted by - March 8, 2018 0
चेन्नै के पेरियार नगर में शरारती तत्‍वों ने बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की मूर्ति को नुकसान पहुंचाया तिरुवनंतपुरम/नई दिल्ली। त्रिपुरा में…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *