Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

रिसर्च : माइक्रोवेव, रेफ्रिजरेटर, सिंक में भी पनपते हैं बैक्टीरिया, हर हफ्ते सफाई जरूरी

90 0

नई दिल्‍ली। सभी जानते हैं ढेर सारे ऐसे बैक्टीरिया हैं जो संक्रमण फैलाते हैं। ये बैक्‍टीरिया खास तौर पर ऐसी जगहों पर पाए जाते हैं, जो अक्सर सफाई के दौरान छूट जाते हैं। हाल ही में हुए एक शोध में कहा गया है कि टॉयलेट के मुकाबले किचेन में ज्यादा बैक्टीरिया पाए जाते हैं। अगर इनकी सफाई अच्‍छे से ना की जाए तो ये कई सारी बीमारियों को आमंत्रण दे सकते हैं।

किसने किया शोध ?

मॉरिशस यूनिवर्सिटी में हुई एक रिसर्च के अनुसार, किचन में मौजूद टॉवेल में तो काफी संख्या में बैक्टीरिया मौजूद होते ही हैं, इसके अलावा यहां ई. कोली, एंटीरोकोकस जैसे बैक्टीरिया भी बड़ी तादाद में होते हैं। ये बैक्‍टीरिया आमतौर पर माइक्रोवेव, रेफ्रिजरेटर, सामान रखने की जगह और किचन सिंक के आसपास मौजूद होते हैं, क्‍योंकि अक्‍सर हम इनकी सफाई नहीं करते हैं। शोधकर्ताओं का कहना है कि हफ्ते में एक बार इन जगहों की सफाई जरूर करनी चाहिए। आइए जानते हैं ऐसी जगहों की सफाई कैसे करें ताकि हम इन बैक्‍टीरिया से दूर रह सकें।

रेफ्रिजरेटर

फ्रिज या रेफ्रिजरेटर एक ऐसी जगह है जहां सामान को खराब होने से बचाने के लिए ज्यादा दिनों तक स्टोर किया जाता है। रिसर्च के अनुसार, सब्जी रखने वाले रैक में मानक के मुकाबले 750 गुना ज्यादा बैक्टीरिया पाए जाते हैं। फ्रिज को साफ करने से पहले सबसे पहले उसका पावर प्लग हटाकर इसमें रखा सारा सामान बाहर निकाल दें। इसके बाद हल्के गर्म पानी में डिशवॉशिंग पाउडर डालकर मिलाएं और फ्रिज के ड्राअर को उसमें डाल दें। गुनगुने पानी में डिशवॉशिंग लिक्विड डालकर मिलाएं और कपड़े से अंदरूनी हिस्से को अच्‍छी तरह साफ करें। ऐसी जगह जहां दाग-धब्बे हैं, उन्‍हें बेकिंग सोडा की मदद से साफ कर सकते हैं। कोने वाली जगहों पर सफाई का खास ध्यान रखें, क्‍योंकि यहां बैक्टीरिया पनपने की आशंका सबसे ज्यादा रहती है।

माइक्रोवेव

आजकल घरों में खाना गर्म करने के लिए या झटपट बनने वाली चीजों को पकाने के लिए माइक्रोवेव का काफी इस्तेमाल होता है। हालांकि हम नियमित तौर पर माइक्रोवेव की सफाई नहीं करते हैं। माइक्रोव में गिरा दूध या या सब्जी की ग्रेवी वहां बैक्टीरिया के पनपने का प्रमुख कारण है। ये बैक्टीरिया कई गंभीर बीमारियों के लिए जिम्मेदार होते हैं। माइक्रोवेव को साफ करने के लिए सबसे पहले इसके प्लग को निकाल लें। अब एक साफ सूती कपड़े को पानी में भिगोकर माइक्रोवेव को भीतर से अच्छी तरह से साफ कर लें। इसके बाद एक बर्तन में पानी और नींबू के कुछ टुकड़े डालकर माइक्रोवेव में रखें और उसे ऑन कर दें। पानी को चार से पांच मिनट तक उबालें। इस पानी के भाप से आपका माइक्रोवेव पूरी तरह साफ भी हो जाएगा और खुशबू भी अच्छी आएगी।

किचेन सिंक

अक्‍सर हम बरतनों की सफाई किचेन सिंक में ही करते हैं, लेकिन सिंक की सफाई करना भूल जाते हैं। सच्चाई यह है कि गंदे बरतनों को धोने पर सिंक कीटाणुओं के पनपने का स्‍थायी अड्डा बन जाता है। सिंक में हमेशा नमी रहने से उन्हें पनपने का सही माहौल भी मिल जाता है। ऐसे में यह जरूरी है कि दिन में कम-से-कम एक बार सिंक की अच्छी तरह से सफाई जरूर की जाए। सिंक को अच्‍छे से साफ करने के लिए बैक्‍टीरिया को खत्म करने वाले लिक्विड को सिंक में अच्छी तरह से छिड़क दें। फिर 15 मिनट बाद गर्म या गुनगुने पानी से सिंक को धो दें।  गुनगुने पानी में एक-एक चम्मच बेकिंग पाउडर और नींबू का रस मिलाकर उसे भी सिंक में स्प्रे कर सकती हैं। 15-20 मिनट के बाद सिंक को साफ कर लें। इससे सिंक से कीटाणुओं का खात्मा हो जाएगा।

Related Post

कर्नाटक : हाईवोल्टेज ड्रामे के बीच शक्ति परीक्षण से पहले ही येदियुरप्पा ने दिया इस्तीफा

Posted by - May 19, 2018 0
बेंगलुरु। कर्नाटक में शनिवार (19 मई) को सुबह से पूरे दिन चले हाई वोल्‍टेज ड्रामा में काफी उतार-चढ़ाव के बाद…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *