वैज्ञानिकों ने बनाया ऐसा ऐप, जो बताएगा अपने काम में हैं आप कितने अलर्ट

50 0

न्‍यूयॉर्क। वैज्ञानिकों ने एक ऐसा ऐप बनाया है, जो ये बताएगा कि काम के वक्त आप कितने अलर्ट हैं और दिन के किस वक्त आपकी अलर्टनेस सबसे अधिक थी। अमेरिकी वैज्ञानिकों ने यह स्मार्टफोन ऐप विकसित किया है जो कार्यस्थल पर किसी व्यक्ति की सतर्कता का पता लगा सकता है और यह पहचान सकता है कि कोई व्‍यक्ति किस समय सबसे बेहतर ढंग से काम करने के लिए तैयार है।

किसने बनाया ऐप ?

‘अलर्टनेस स्कैनर’ (Alertness Scanner)  नामक इस ऐप को अमेरिका के कॉर्नेल विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं ने विकसित किया है। विश्वविद्यालय में पीएचडी के छात्र विंसेंट डब्ल्यू एस त्सेंग ने कहा कि सतर्कता को मापने के पारंपरिक तरीके जटिल होते हैं। इनमें अक्सर उपकरणों को पहनना पड़ता है। शोधकर्ता सतर्कता को सहजता और निरंतरता से मापने का तरीका विकसित करना चाहते थे, जिसके लिए उन्‍होंने यह ऐप तैयार किया। त्सेंग ने कहा, ‘चूंकि लोग दिन भर में अपना फोन बार-बार इस्तेमाल करते हैं तो हमने सोचा कि सतर्कता को मापने के लिए फोन को एक उपकरण के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।’

कैसे काम करता है यह ऐप ?

विंसेंट डब्ल्यू एस त्सेंग ने कहा, चूंकि हमारी सजगता घटती-बढ़ती रहती है, ऐसे में अगर किसी पैटर्न की खोज कर लेते हैं तो दिन भर की योजना बनाने और उसे व्यवस्थित करने में मदद मिलती है। दरअसल, यह ऐप पुतलियों के आकार को मापता है। इसके लिए यूजर हर बार जब स्मार्टफोन का लॉक खोलता है, उस दौरान कई तस्वीरें खींची जाती हैं। त्‍सेंग बताते हैं, ‘जब लोग सतर्क होते हैं तो सूचनाओं को समझने के लिए उनकी आंखों की पुतलियां फैल जाती हैं। वहीं जब वह सुस्त होते हैं तो पुतलियां सिकुड़ने लगती हैं। ऐसे में फोन देखने के दौरान उनकी आंखों की स्थिति कैसी रहती है, इससे उनकी सतर्कता का पता लगाया जा सकता है।’ दूसरे शब्‍दों में कहें तो यह ऐप आपकी आंखों की पु‍तलियों की साइज मापकर आपकी अलर्टनेस बताने का काम करेगा।

काम के प्रति बढ़ेगी सजगता

विंसेंट के मुताबिक, ‘अगर आप किसी बेहद महत्वपूर्ण काम को पूरा करने जा रहा है जिसमें उसकी 100 % अलर्टनेस चाहिए, तो वह पहले इस ऐप के सहारे से अपनी अलर्टनेस चेक कर सकता है। इसके बाद वह अपने टास्क को सफलतापूर्वक पूरा कर सकता है। इसके साथ ही यह ऐप आपको यह भी बताएगा कि कब आपको एक ब्रेक की जरूरत है।’

Related Post

रिसर्च में खुलासा : इतने चेहरों को ही याद रख पाता है इंसान का मस्तिष्क

Posted by - October 12, 2018 0
लंदन। मानव मस्तिष्‍क को शरीर का सबसे रहस्‍यमय अंग माना जाता है। मनोविज्ञान का सिद्धांत है कि मानव मस्तिष्‍क चाहे…
गोलाबारी

अंतरराष्ट्रीय सीमा पर युद्ध के हालात, पाक ने तैनात की सेना, भारत दे रहा मुंहतोड़ जवाब

Posted by - May 23, 2018 0
जम्मू। जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा और एलओसी पर युद्ध जैसे हालात हो गए हैं। बीएसएफ की ओर से पाकिस्तानी रेंजर्स…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *