रात-रात भर जागकर देखते हैं नेटफ्लिक्स और अमेजन प्राइम पर शो, तो सावधान

30 0

नई दिल्ली। अगर आप देर रात तक जागकर और सुबह तक नेटफ्लिक्स और प्राइम पर शो देखते हैं और इसके बिना जिंदगी अधूरी सी लगती है, तो जान लीजिए कि आपके शरीर में एक बड़ी गड़बड़ी है।

नेटफ्लिक्स, हॉटस्टार और अमेजन प्राइम पर कई तरह के शो आते हैं। ये सभी ऑनलाइन हैं। यानी नेट के जरिए इनके शो देखे जा सकते हैं। तीनों ही प्लेटफॉर्म पर हजारों की तादाद में टीवी सीरियल और फिल्में हैं। जिन्हें लोग देखना पसंद करते हैं। ताजा मामला बंगलुरु के 26 साल के एक युवक का है। इस युवक को नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरोसाइंसेज ने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का एडिक्ट बताया है। ये युवक रात-रात भर जागकर नेटफ्लिक्स पर कंटेंट देखता था।

इस युवक का इलाज कर रहे डॉक्टरों के मुताबिक वो नेटफ्लिक्स पर सात घंटे तक प्रोग्राम देखता था। कभी-कभी वो 10 घंटे भी प्रोग्राम देखने में बिताता था। इसकी वजह से उसे मानसिक बीमारी हो गई। जब उसके पैरेंट्स उसे लगातार टीवी देखने से मना करते थे, तो वो नाराज हो जाता था और हिंसक व्यवहार करने लगता था। डॉक्टरों के अनुसार जो लोग हर रोज टीवी के सामने कई घंटे बिताते हैं, उनका अपने आसपास से रिश्ता खत्म होने लगता है। वो कामकाज भी ठीक से नहीं कर पाते। सिर्फ टीवी देखना ही उन्हें भाता है और इससे रोकने पर वे हिंसक व्यवहार करने लगते हैं।

बंगलुरू में डॉक्टरों ने पाया कि जब भी युवक दुखी होता था, वो ऑनलाइन कंटेंट देखने के लिए नेटफ्लिक्स का सहारा लेता था। हालत ये हो गई कि एक रात बैठकर उसने ब्रिटेन में बने क्राइम सीरियल ब्रॉडचर्च को पूरा देख डाला। इसका हर सीजन आठ एपीसोड का है और हर एपीसोड 45 मिनट लंबा है।

बता दें कि नेटफ्लिक्स की शुरुआत में इसमें 826 प्रोग्राम थे। अब इनकी संख्या बढ़कर 4706 हो गई है। इनमें 3342 फिल्में और 1364 टीवी शो हैं। डॉक्टरों के मुताबिक जो लोग डिप्रेशन में होते हैं, तनाव में रहते हैं, हाई ब्लड प्रेशर के मरीज होते हैं या दिमागी उलझनों से जूझते हैं, वे राहत पाने के लिए टीवी का सहारा लेने लगते हैं।

Related Post

समझौते के 4 घंटे बाद ही कांग्रेस-हार्दिक के संगठन में फूट, सूरत में तोड़फोड़

Posted by - November 20, 2017 0
गांधीनगर.गुजरात में लंबे वक्त से समझौते की कोशिशों में जुटे कांग्रेस और हार्दिक पटेल के अलायंस में रविवार देर रात फूट हो…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *