रिसर्च : हफ्ते में एक बार पिएं रेड वाइन और मसूड़ों की समस्या से पाएं छुटकारा

105 0

नई दिल्‍ली। अगर आपको मसूड़ों से संबंधित कोई समस्‍या या बीमारी है  तो  हफ्ते में एक ग्लास रेड वाइन पीना आपको इस समस्‍या से निजात दिला सकता है। हाल ही में हुई एक रिसर्च में यह दावा किया गया है।

क्‍या कहा शोधकर्ताओं ने ?

स्‍पेन के इंस्टीट्यूट ऑफ फूड साइंस रिसर्च वैज्ञानिकों ने यह शोध किया है। शोधकर्ताओं का कहना है कि रेड वाइन आपके दांतों में लगने वाली कैविटीज़ और मुंह में होने वाले बैक्टीरिया और पैथोजन्स को खत्म करने में कारगर है। शोधकर्ताओं ने बताया कि रेड वाइन में पॉलीफिनॉल और एंटी-ऑक्सिडेंट्स पाए जाते हैं जो ओरल हेल्थ को बेहतर करने में काफी मददगार हैं। ये कोलन कैंसर और दिल से संबंधित बीमारियों के खतरे को भी कम करते हैं। ओरल प्रोबायोटिक, स्ट्रेपटोकोकस डेंटीसानी के साथ अगर आप रेड वाइन मिक्स करते हैं तो इसमें मौजूद पॉलीफिनॉल, पेथोजेनिक बैक्टीरिया से बचाते हैं. इसके अलावा अगर आप अपने दांत और मसूड़ों को स्‍वस्‍थ रखना चाहते हैं तो दिन में दो बार ब्रश करना न भूलें।

दांतों के लिए भी फायदेमंद

शोधकर्ताओं का कहना है कि दांतों की चमक बनाए रखने के लिए भी रेड वाइन पीना बहुत ही फायदेमंद होता है। ये दांतों के इनेमल को स्ट्रॉन्ग बनाता है और साथ ही मुंह के बैक्टीरिया को भी खत्म करता है जिससे मुंह के बदबू की समस्या दूर होती है साथ ही उनकी मजबूती भी बनी रहती है। इससे पहले हुई रिसर्च से पता चला है कि अगर आप अल्कोहल का सेवन करते हैं तो इससे इंफ्लेमेशन की समस्या खत्म होती है और दिमाग से टॉक्सिन निकलते हैं।

क्‍यों होती है मसूड़ों की बीमारी ?

मसूड़़ों की बीमारी एक आम समस्या है, जिसके कारण दांतों को भी नुकसान पहुंचता है। ज्यादातर मसूड़़ों की बीमारी इन्फेक्शन के कारण होती है। इंफेक्शन दांतों के नीचे हड्डियों तक फैल जाता है। मसूड़़ों की समस्या के दो स्टेज होते हैं। अगर पहले स्टेज पर ही इसका पता चल जाए तो इससे होने वाले नुकसान से बचा जा सकता है। जिंजिवाइटिस की समस्या मसूड़़ों की बीमारी का पहला स्टेज होती है जो कि खतरनाक है। इसके अलावा प्रोटीन की कमी से पेरियोडोन्टाइटिस नामक मसूड़ों की एक बीमारी होती है, जिसमें मसूड़ों से खून निकलता है और दांतों के आसपास की हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। उम्र बढ़ने के साथ लोगों में इस बीमारी से ग्रस्त होने का खतरा बढ़ता जाता है।

Related Post

मुस्लिमों को टिकट नहीं तो मुस्लिमों का वोट नहीं

Posted by - November 16, 2017 0
 गुजरात विधानसभा चुनाव में सूरत में लगाए गए पोस्टर, कांग्रेस को दी चेतावनी सूरत: गुजरात विधानसभा चुनावमें प्रचार के दौरान ऐसा लग…

सोनौली बॉर्डर पर एसएसबी और सेना के जवान भिड़े, मारपीट के बाद घंटों अफरातफरी

Posted by - September 4, 2018 0
शिवरतन कुमार गुप्ता ‘राज़’ महराजगंज। भारत-नेपाल के सोनौली बॉर्डर पर जांच के दौरान एसएसबी और सेना के गोरखा रेजीमेंट के…

राफेल विवाद:जेटली बोले-रद्द नहीं होगी डील, ओलांद के बयान की टाइमिंग पर उठाए सवाल

Posted by - September 23, 2018 0
नई दिल्‍ली। राफेल डील मामले में फ्रांस के पूर्व राष्‍ट्रपति फ्रांस्‍वा ओलांद के बयान के बाद मचे सियासी घमासान के…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *