मोदी सरकार ने खर्च दिए 3800 करोड़ रुपए, लेकिन पता नहीं गंगा कितनी साफ हुई

91 0

नई दिल्ली। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक गंगा को स्वच्छ बनाने का काम कितना हुआ है, ये केंद्र की मोदी सरकार को भी नहीं पता है। 2014 में केंद्र में सरकार बनाने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने गंगा सफाई को अपनी बड़ी प्राथमिकताओं में शामिल करते हुए नमामि गंगे अभियान शुरू किया था।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक जुलाई में एक आरटीआई के जवाब में मोदी सरकार ने जवाब दिया कि उसे पता नहीं कि गंगा नदी कितनी साफ हुई है। बता दें कि मोदी सरकार ने गंगा सफाई पर अब तक 3800 करोड़ रुपए खर्च कर दिए हैं और 2020 तक गंगा नदी को 80 फीसदी तक साफ करने का लक्ष्य भी तय किया है। पैसा कहां और किस मद में खर्च हुआ, ये बताने में भी मोदी सरकार नाकाम रही है।

मोदी सरकार ने गंगा सफाई में निजी क्षेत्र की भागीदारी के लिए जनवरी 2015 में स्वच्छ गंगा निधि भी बनाई थी। ये निधि भी सहयोग की कमी से बेहाल है। इस निधि में निजी क्षेत्र और विदेशियों ने कुल जमा रकम का दो फीसदी से भी कम दिया है। जबकि, सरकारी संस्थानों ने इसमें सिर्फ 163.49 करोड़ रुपए ही जमा कराए हैं। स्वच्छ गंगा निधि में अब तक कुल 234.98 करोड़ रुपए ही जमा हो सके हैं। इनमें निजी संगठनों से 19.54 करोड़ और एनआरआई और भारतीय मूल के विदेशियों से 3.76 करोड़ रुपए ही मिल सके हैं।

Related Post

वैज्ञानिकों ने दिया भारत को दो अलग टाइम जोन में बांटने का सुझाव

Posted by - October 11, 2018 0
नई दिल्‍ली। देश के पूर्वोत्तर क्षेत्र में भारतीय मानक समय (Indian Standard Time) पर आधारित आधिकारिक कामकाजी घंटों से पहले…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *