कहीं आप भी तो नहीं उठाते हैं बच्चों पर हाथ ? इन वजहों से बच्चे बन जाते हैं असामाजिक

29 0

टेक्सास। कुछ वक्त पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक मां अपने बच्चे को पढ़ाते वक्त मारती हुई नजर आ रही थी। लोग उनकी इस हरकत से काफी गुस्सा हुए थे। किसी गलती के लिए, अनुशासन सिखाने के नाम पर या फिर अपना गुस्सा उतारने के लिए बच्चों पर हाथ उठाना हमारे देश में आम बात है। पैरेंट्स झट से बच्चों पर हाथ तो उठा देते हैं, लेकिन ये सोचने की जहमत नहीं करते कि उनकी मार का बच्चों पर क्या असर होता है? एक रिसर्च में ये बात सामने आई है कि जो पैरेंट्स अपने बच्चों पर हाथ उठाते हैं, वो बच्चे असामाजिक बन जाते हैं।

अमेरिका की पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी ने यह स्टडी की है। स्टडी में 277 जुड़वा बच्चों को शामिल किया गया और उनकी पेरेंटिंग के बारे में जाना गया। स्टडी में सामने आया कि जिन जुड़वा बच्चों के माता-पिता बहुत ज्यादा सख्त थे, उन बच्चों में सोशल स्किल्स की कमी थी।

साइकोलॉजिस्ट का कहना है कि पैरेंट्स को लगता है कि थप्पड़ मारना बच्चों को सिखाने का शॉर्टकट तरीका है, मारने से वे समझ जाएंगे और दोबारा वही गलती नहीं करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं है। कई बार तो बच्चे ये भी नहीं समझ पाते कि उन्हें मार क्यों पड़ी। बात-बात पर हाथ उठाने से कुछ बच्चे अग्रेसिव हो जाते हैं।

मिशिगन के एसएसई विभाग में एक सहयोगी प्रोफेसर ने बताया कि इस स्टडी से पेरेंटिंग के बारे में पता चलता है। लेकिन इससे पहले हम कोई निष्कर्ष पर पहुंचें, हमें कोई और चीजों के बारे में जानकारी जमा करनी होगी।

Related Post

17 लड़कियों से थे आतंकी के रिश्ते, प्रेग्नेंट गर्लफ्रेंड के इनपुट पर फोर्स ने किया ढेर

Posted by - October 10, 2017 0
श्रीनगर :  जम्मू-कश्मीर के बारामूला में सेना ने सोमवार को एक मुठभेड़ में 7 लाख के इनामी पाकिस्तानी आतंकी और जैश-ए-माेहम्मद…

वर्ल्ड फूड इंडिया फेस्ट : पीएम मोदी ने दुनिया को बताए खिचड़ी के गुण

Posted by - November 3, 2017 0
नयी दिल्ली : वर्ल्ड फूड फेस्ट‍िवल की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश की राजधानी दिल्ली में की. इस अवसर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *