रिसर्च में खुलासा : इतने चेहरों को ही याद रख पाता है इंसान का मस्तिष्क

85 0

लंदन। मानव मस्तिष्‍क को शरीर का सबसे रहस्‍यमय अंग माना जाता है। मनोविज्ञान का सिद्धांत है कि मानव मस्तिष्‍क चाहे कितनी भी सूचनाएं प्राप्‍त कर ले, लेकिन वह उनमें से 5 से लेकर 9 भागों को ही याद रख पाता है। बचपन के कुछ साल हमें याद नहीं रहते क्‍योंकि उस समय तक Hippocampus विकसित नहीं होता, जो किसी चीज को याद करने के लिए जरूरी है। हालांकि वैज्ञानिक आज भी यह पूरी तरह पता नहीं लगा पाए हैं कि दिमाग का विकास किस तरह होता है। यह कैसे काम करता है और किस तरह बातों को याद रख पाता है। अब ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने एक शोध के जरिए यह पता लगाने की कोशिश की है इंसान औसतन कितने लोगों के चेहरों को याद रख पाता है।

किसने किया अध्‍ययन ?

ब्रिटेन के यॉर्क विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने अपने प्रयोग के जरिए यह जानना चाहा कि प्रतिभागी अपने व्यक्तिगत जीवन से मीडिया में देखे गए चेहरों के साथ ही मशहूर चेहरों में से कितने चेहरों को याद रख पाते हैं। यॉर्क विश्वविद्यालय के रोब जेनकिन्स कहते हैं, ‘हमारा अध्ययन इस बात पर केन्द्रित था कि लोग वास्तव में कितने चेहरे पहचानते हैं….हमें अभी तक यह पता नहीं चला है कि मस्तिष्क कितने चेहरों को पहचान सकता है।’

कैसे किया अध्‍ययन ?

‘प्रोसीडिंग्स ऑफ द रॉयल सोसाइटी बी’ पत्रिका में प्रकाशित शोध के अनुसार, इसके लिए एक आधार मुहैया कराया गया जिसमें मानव के चेहरे की तुलना चेहरा पहचानने वाले सॉफ्टवेयर से की गई। इन तकनीकों का इस्तेमाल एयरपोर्ट तथा पुलिस जांच में की जाती है। शोध में लोगों को एक घंटे में उन लोगों के नाम लिखने को कहा गया, जो उनके जीवन से जुड़े हैं। इनमें स्कूल, कॉलेज, सहयोगी और परिजन शामिल हैं। इसके बाद उन्हें मशहूर हस्तियों जैसे अभिनेता, नेता आदि के नाम लिखने को कहा गया।

क्‍या निकला अध्‍ययन का नतीजा ?

अध्‍ययन के दौरान प्रतिभागियों को पहले तो काफी चेहरे याद आए लेकिन घंटे के अंत में उन्हें नए चेहरे याद करने में मुश्किल आई। शोधकर्ताओं का कहना है कि अध्‍ययन के परिणाम बताते हैं कि प्रतिभागी एक हजार से 10 हजार चेहरों के बीच पहचान पाते हैं। दूसरी तरफ वैज्ञानिकों ने इस अध्‍ययन के आधार पर कहा कि अगर औसत निकाला जाए तो लोग औसतन 5,000 चेहरों को याद रख पाते हैं।

Related Post

हैदराबाद की मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में आज आ सकता है फैसला

Posted by - April 16, 2018 0
हैदराबाद। नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी यानी एनआईए की विशेष अदालत आज (16 अप्रैल) मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में फैसला सुना सकती…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *