पुणे के इस गांव ने मच्छरों का नामो निशां नहीं, लोगों ने नामुमकिन को कर दिखाया मुमकिन

38 0

पुणे। भारत में वैसे तो कई स्तर पर मच्छरों से निपटने के लिए अभियान चलाए जाते हैं, लेकिन पूरी तरह से मच्छरों को भगाना नामुमकिन सा लगता है। पुणे के इंदापुर तालुके के अंतर्गत आने वाले संसार गांव में रहने वाले लोगों और पुणे नगर निगम ने गांव से मच्छरों को पूरी तरह से खात्मा कर दिया है।

इस प्रॉजेक्ट की शुरुआत दो साल पहले स्वास्थ्य विभाग द्वारा 2016 में की गई थी। विभाग ने गांव में युवा से लेकर बुजुर्ग को इस अभियान में शामिल होने की अपील की थी। गांव के सामाजिक कार्यकर्ता पीएस पाठक ने कहा, ‘हमने लोगों तक संदेश पहुंचाने में काफी मेहनत की और लोगों को जागरूक किय। स्कूलों में भी कैंपेन चलाए गए और बच्चों को स्वच्छता के बारे में बताया गया।’

स्कूलों में बच्चों के बीच चित्रकला प्रतियोगिता कराई गई ताकि समस्या का सही तरीके से पता लगाया जा सके। इसके अलावा प्रतियोगिता के जरिए बच्चों को बताया गया कि कैसे मच्छरों के पनपने की जगह की पहचान करना है। गांव के एक शख्स ने कहा कि गांव के सभी लोगों को बताया गया कि मच्छर कहां पनपते हैं। उन जगहों को पहचान करके उसे साफ बनाने का काम सौंपा गया। इसके लिए टीम को 15-15 लोगों के ग्रुप में बांटा गया और उन्हें अलग-अलग इलाकों में क्रियान्वन का जिम्मा सौंपा गया।’

इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग ने गांव से निकलने वाले कचरे के उचित निपटान की व्यवस्था की। उन्होंने गांव के जल निकास को दुरुस्त किया और पाइप पर जाली लगा दी ताकि वहां मच्छर न पनप पाएं। इसके साथ ही पेयजल की स्वच्छता को भी दुरुस्त किया गया। इसके बाद जो परिणाम निकला वो चौंकाने वाला था। पुणे के जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिलीप माने के मुताबिक 100 घरों का सर्वेक्षण करने पर पता लगा कि एक भी मच्छर का लारवा नहीं मिला है।

Related Post

समलैंगिक संबंधों का विरोध किया तो कलयुगी बेटी ने मां को मार डाला

Posted by - March 12, 2018 0
गाजियाबाद की घटना, बेटी और उसकी टीचर के खिलाफ गैरइरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज गाजियाबाद। गाजियाबाद में एक मां ने…

50 आईआईटीयंस ने पक्की नौकरी छोड़कर बनाई राजनीतिक पार्टी

Posted by - April 22, 2018 0
राजनीतिक संगठन का नाम रखा ‘बहुजन आजाद पार्टी’ (BAP), दलितों के लिए करेंगे संघर्ष बिहार चुनावों से करेंगे शुरुआत, पार्टी…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *