रिसर्च : देर से प्रेग्नेंट होने वाली महिलाओं की बेटियों में होता है बांझपन का खतरा

56 0

जॉर्जिया। पहले के मुकाबले आजकल महिलाएं ज्यादा उम्र में मां बन रही हैं। इसका कारण आजकल की जीवनशैली है। पहले कम उम्र में ही शादी हो जाने की वजह से महिलाएं जल्दी गर्भवती हो जाती थीं। अब ऐसा नहीं होता। एक ताजा अध्ययन ने यह दावा किया है कि जो महिलाएं ज्यादा उम्र में बच्चे को जन्म देती हैं और जन्म लेने वाली अगर बच्ची होती है तो उसकी प्रजनन क्षमता को काफी नुकसान पहुंचता है। 

‘द गार्डियन’ की रिपोर्ट के मुताबिक, अंडों में बढ़ने वाला यह आनुवंशिक दोष महिला से उनकी बेटियों में पहुंच जाता है, जिससे उनके अंडे की गुणवत्ता कम होती है। अटलांटा के रिप्रोडक्टिव बायोलॉजी एसोसिएट्स से पीटर नैगी ने बताया, ‘मां की प्रजनन की उम्र न केवल खुद के लिए ही महत्वपूर्ण है, लेकिन यह निश्चित रूप से उनकी बेटी की प्रजनन क्षमता को निर्धारित करता है, बल्कि बेटियों के बांझ होने का अंदेशा भी रहता है।’

उन्होंने आगे कहा, ‘जब 40 की उम्र की आसपास की महिलाएं गर्भवती होती हैं, उस दौरान उन बच्चों में बांझपन का जोखिम अधिक रहता है।’ Menopause की उम्र अलग-अलग होती है, लेकिन आम तौर पर यह 50 साल के करीब होता है। अगर कोई महिला Menopause के करीब होने के दौरान बच्‍चे को जन्म देती है तो उसकी बेटी की प्रजनन क्षमता प्रभावित होने की आशंका ज्‍यादा रहती है।

Related Post

शोध : सेहत के लिए पेट्रोल-डीजल से अधिक सुरक्षित है सीएनजी

Posted by - June 29, 2018 0
लखनऊ। प्रदूषण नियंत्रण के लिए वाहनों में कम्प्रेस्ड नेचुरल गैस (CNG) के बढ़ते उपयोग के साथ-साथ इसके दुष्प्रभावों को लेकर…

शत्रु का विवादित बयान, कहा- राजनीति और फिल्मों में सेक्स से मिलता है काम

Posted by - April 27, 2018 0
मुंबई .बॉलीवुड में बीते कुछ दिनों एक्टर और कोरियोग्राफर विवादित ब्यान देते नजर आ रहे है, हालही में सरोज खान…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *