शरीर को स्वस्थ रखना है तो बनिए वेजीटेरियन, विराट कोहली ने भी है अपनाया

20 0

नई दिल्ली। हाल ही में भारतीय क्रिकेट टीम के कैप्टन विराट कोहली ने बताया कि वो पूरी तरह वेजीटेरियन हो चुके हैं। यानी मांस-मछली खाना विराट ने छोड़ दिया है। विराट ने ये भी बताया था कि वेजिटेरियन होने की वजह से उन्हें काफी बेहतर भी महसूस हो रहा है और वो अच्छी तरह खेल भी पा रहे हैं। तो आइए जानते हैं कि वेजीटेरियन खाने से शरीर को क्या फायदे होते हैं।

-वेजीटेरियन यानी सब्जियां और फल खाने से शरीर को सैचुरेटेड फैट, जानवरों के मांस में मिलने वाले हार्मोन और कॉलेस्ट्रॉल से मुक्ति मिल जाती है। इससे कैंसर, डायबिटीज, दिल की बीमारियों और मोटापे से मुक्ति मिलती है।
-नोबल पुरस्कार विजेता डॉ. एलिजाबेथ ब्लैकबर्न और डॉ. डीन ऑर्निश की रिसर्च में पता चला था कि वेजीटेरियन भोजन से तीन महीन में 500 से ज्यादा जीन बदल जाते हैं। इससे उन जीन में भी बदलाव आता है, जो दिल की बीमारी, प्रोस्टेट कैंसर और अन्य बीमारियों की वजह बनते हैं।
-रिसर्च से ये भी पता चला है कि फल और ताजी सब्जियां खाने से कैंसर की बीमारी दूर रहती है। फल और ताजी सब्जियां खाने वाली महिलाओं में स्तन, सर्वाइकल और ओवरी कैंसर का खतरा 34 फीसदी कम होता है।
-एक अन्य रिसर्च से पता चला था कि जिन लोगों की किडनी खराब हो चुकी है, वे अगर मांस-मछली खाते हैं, तो किडनी में और दिक्कत होती है। ऐसे मरीजों को ताजे फल और सब्जियां खानी चाहिए।
-वेजीटेरियन भोजन से बुढ़ापे में आर्थराइटिस भी नहीं होती। साल 2015 में कॉम्प्लीमेंट्री थेरेपीज इन मेडिसिन नाम की पत्रिका में इस बारे में रिसर्च छपी थी। इसमें 600 लोगों को तीन हफ्ते तक फल और सब्जियां खिलाई गई थीं। जिसके बाद पाया गया कि आर्थराइटिस को बढ़ाने वाला सी-रिएक्टिव प्रोटीन इन लोगों में कम हो गया था।

Related Post

सीबीआई व ईडी की टीमें विक्रम व राहुल कोठारी को लेकर दिल्ली गईं

Posted by - February 20, 2018 0
विक्रम कोठारी की पत्‍नी साधना का कानपुर स्थित बैंक अकांउट और लॉकर भी खंगाला गया कानपुर। रोटोमेक ग्रुप ऑफ कंपनीज के…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *