जो बच्चे सेकेंडरी स्कूल में बेस्ट फ्रेंड और स्कूल नहीं बदलते, उनके आते हैं ज्यादा मार्क्स :स्टडी

95 0

लंदन। सेकेंडरी स्कूल में जो बच्चे अपने बेस्ट फ्रेंड और स्कूल नहीं बदलते हैं और साथ पढ़ते हैं उन बच्चों के मार्क्स अच्छे आते हैं। एक स्टडी में ये सामने आया कि ऐसे बच्चों के ग्रेड्स में 13 प्रतिशत का सुधार होता है।

ऐसे की गई स्टडी
रिसर्चर्स का कहना है कि ऐसे बच्चों के मार्क्स तो अच्छे आते ही हैं साथ में ऐसे बच्चे पहले से ज्यादा अच्छा व्यवहार भी करते हैं। ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी ऑफ सर्रे ने इंग्लैंड के 593 ऐसे बच्चों के फ्रेंडशिप पर स्टडी की जो सेकेंडरी स्कूल में थे। इन बच्चों के प्राइमरी स्कूल के लास्ट इयर और सेकेंडरी स्कूल के फर्स्ट इयर के मार्क्स का रिकॉर्ड तैयार किया गया। इसके अलावा इन बच्चों से इनके फ्रेंडशिप के बारे में पूछा गया।

ये आया सामने
रिसर्चर्स ने पाया कि जिन बच्चों के दोस्त स्कूल टाइप में वही थे और जो एक ही स्कूल में थे उनके 13 प्रतिशत तक मार्क्स बढ़े हैं। इन बच्चों का व्यवहार दूसरे बच्चों के मुकाबले बहुत अच्छा था। रिसर्चर्स ने बताया कि इस स्टडी से एक और बात सामने आई वो यह कि जिन बच्चों का व्यवहार अच्छा नहीं होता है और जिनके मार्क्स कम आते हैं वो जल्दी अपने बेस्ट फ्रेंड को खो देते हैं।

क्या कहना है डॉक्टर का
डॉ.एनजी-नाइट ने कहा, खराब व्यवहार करने वाले बच्चों को ज्यादा सपोर्ट की जरूरत होती है ताकि वो अपनी दोस्ती को बरकरार रख पाएं और अपने व्यवहार को सुधार सकें। इसका इफेक्ट उनके ग्रेड्स पर भी पड़ता है।

Related Post

जो सामाजिक रूप से होते हैं डिस्कनेक्ट उन्हें धर्म देता है जीने का उद्देश्य

Posted by - September 4, 2018 0
मिशिगन। ऐसे लोग जो सामाजिक नहीं हैं या समाज से अलग-थलग रहते हैं, उन्हें धर्म जीने का उद्देश्य देता है।…

सोशल मीडिया पर फिटनेस मुहिम की धूम, कोहली ने दिया पीएम मोदी को चैलेंज

Posted by - May 24, 2018 0
प्रधानमंत्री मोदी ने स्वीकार किया विराट कोहली का चैलेंज, बोले – जल्द शेयर करेंगे वीडियो खेल राज्यमंत्री कर्नल राज्यवर्धन सिंह…

‘माहवारी’ के दिनों में मंदिर जाने पर कोई रोक नहीं : महंत देव्या गिरि

Posted by - May 29, 2018 0
राजधानी के मनकामेश्वर मठ-मंदिर में ‘माहवारी : शर्म नहीं सेहत की बात’ विषय पर हुई संगोष्ठी लखनऊ। वर्ल्ड मेंस्ट्रुअल डे…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *